English മലയാളം

Blog

भारतीय सेना के जवानों ने सिक्किम में नाथू ला-गंगटोक मार्ग पर अचानक हुई भारी बर्फबारी के बाद भारत-चीन सीमा के पास फंसे 447 पर्यटकों को बचा लिया है. सेना के जवानों ने उन्हें रेस्क्यू कर वहां से निकाला. गुरुवार (18 फरवरी) को पर्यटक भारी बर्फबारी और शून्य तापमान के बाद नाथू ला- गंगटोक मार्ग पर फंस गए थे.सेना के सूत्रों के अनुसार, सभी पर्यटक 155 वाहनों में थे जो 15 किलोमीटर की दूरी में फंसे हुए थे. बर्फीले तूफान के बाद गाड़ियां फिसलनी शुरू हो गई थीं.

Also read:  जम्मू-कश्मीरः कुलगाम में सेना की रोड ओपनिंग पार्टी पर हमला, चार जवान घायल

एक प्रेस बयान में कहा गया है, “पर्यटकों को सेना के वाहनों में बचाया गया और 17 माइल मिलिट्री कैंप के बैरक के अंदर उन्हें समायोजित किया गया. सभी पर्यटकों को आवास उपलब्ध कराया गया है जबकि 26 को अस्पताल में भर्ती कराया गया है जिन्हें चिकित्सा सहायता की जरूरत थी. सेना ने बताया कि किसी भी पर्यटक को बड़ी चोट नहीं पहुंची है और न ही कोई हताहत हुआ है.”

Also read:  Bihar Election 2020 : नीतीश कुमार पर प्याज फेंकने की घटना को तेजस्वी ने बताया निंदनीय और अलोकतांत्रिक

प्रेस रिलीज में कहा गया है, “खराब मौसम और विपरीत परिस्थितियों के बावजूद भारतीय सेना के बहादुर जवानों ने पर्यटकों को बचाया और आवास, भोजन और चिकित्सा सहायता प्रदान की.”