English മലയാളം

Blog

Screenshot 2022-08-01 110318

सेंसेक्स और निफ्टी इस महीने के पहले कारोबारी दिन सोमवार को बढ़त के साथ खुले।

बीएसई का 30 शेयरों वाला प्रमुख संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 252 अंकों की उछाल के साथ 57823 के स्तर पर खुला तो वहीं नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी ने हरे निशान के साथ आज के कारोबार की शुरुआत की।

 

शुरुआती कारोबार में सेंसेक्स दिन के उच्च शिखर 57,844.27 से फिसल कर 169 अंकों की बढ़त के साथ 57739 के स्तर पर था। जबकि, निफ्टी 17243 के स्तर पर खुलने के बाद सुबह 71 प्वाइंट ऊपर 17229 के स्तर पर था। निफ्टी टॉप गेनर में महिंद्रा एंड महिंद्रा, सिप्ला, मारुति, टाटा मोटर्स और यूपीएल जैसे स्टॉक्स थे तो वहीं टॉप लूजर में सन फार्मा, इंडसइंड बैंक, ब्रिटानिया, हिन्दुस्तान यूनिलीवर और बजाज फिनसर्व।

Also read:  सुनील गावस्कर ने मयंक अग्रवाल की तारिफ की, कहा-वो भारत में बॉस की तरह बल्लेबाजी करता है, लेकिन विदेशों में नहीं

नौ माह बाद शेयर बाजार में लौटे एफपीआई

लगातार नौ माह तक बिकवाली करने के बाद विदेशी पोर्टफोलियो निवेशक (एफपीआई) भारतीय शेयर बाजारों में लौट आए हैं। जुलाई में एफपीआई ने शेयर बाजारों में करीब 5,000 करोड़ रुपये का निवेश किया है। डॉलर इंडेक्स के नरम पड़ने और कंपनियों के बेहतर तिमाही नतीजों के बाद एफपीआई एक बार फिर लिवाल बन गए हैं।

Also read:  भीम आर्मी चीफ की अखिलेश यादव से मुलाकात, गठबंधन पर चर्चा

रुपये का सबसे खराब समय अब बीत चुका है

यस सिक्योरिटीज के प्रमुख विश्लेषक इंस्टिट्यूशनल इक्विटीज हितेश जैन का मानना है कि अगस्त में भी एफपीआई का प्रवाह सकारात्मक बना रहेगा। इसकी वजह यह है कि रुपये का सबसे खराब समय अब बीत चुका है और कच्चे तेल के दाम भी एक दायरे में कारोबार कर रहे हैं। इसके अलावा भारतीय कंपनियों के तिमाही नतीजे भी बेहतर रहे हैं।

Also read:  Covid-19 Pandemic: देश में कोरोना संक्रमण के केसों में आए ताजा उछाल को लेकर प्रधानमंत्री कार्यालय में इस समय महत्‍वपूर्ण बैठक

इस हफ्ते कैसी रहेगी बाजार की चाल

शेयर बाजारों की दिशा इस सप्ताह वृहद आर्थिक आंकड़ों, कंपनियों के तिमाही नतीजों, नीतिगत ब्याज दरों पर रिजर्व बैंक के निर्णय तथा विदेशी कोषों के रुख से तय होगी। विश्लेषकों का कहना है कि वैश्विक बाजारों का रुझान, रुपये का उतार-चढ़ाव और कच्चे तेल के दाम भी बाजार धारणा को प्रभावित करेंगे। इसी सप्ताह विनिर्माण और सेवा क्षेत्रों के लिए खरीद प्रबंधक सूचकांक (पीएमआई) के आंकड़े आने हैं।