English മലയാളം

Blog

नई दिल्ली: 

कोरोना (Coronavirus) पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने आज एक सर्वदलीय बैठक (All Party Meeting) की. उसके बाद उन्होंने, कहा कि हम कोविड-19  वैक्सीन (Covid-19 Vaccine) पाने की दहलीज पर खड़े हैं. उन्होंने बताया कि सबसे पहले ये वैक्सीन हेल्थ वर्कर, डॉक्टर और मरीजों को दी जाएगी. माना जा रहा है कि अगले कुछ हफ्तों में कोविड-19 की वैक्सीन तैयार कर ली जाएगी. पीएम ने कहा कि देश में करीब आठ ऐसी वैक्सीन हैं, जिनका ट्रायल अलग-अलग स्टेज पर है. फिलहाल भारत में तीन अलग-अलग वैक्सीन का ट्रायल अलग-अलग चरणों में है. पीएम मोदी ने कहा कि कोविड-19 की वैक्सीन डिस्ट्रीब्यूशन के लिए केंद्र और राज्य सरकारें मिलकर काम कर रही हैं और इसके लिए देश में कोल्ड चेन की व्यवस्था को और मजबूत किया जा रहा है.

Also read:  वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण राज्यसभा में जम्मू-कश्मीर विनियोग विधेयक 2022 करेंगी पेश

सर्वदलीय बैठक को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि कोरोना वैक्सीन को लेकर जो विश्वास सभी दलों के नेताओं ने जताया है, उससे कोरोना के खिलाफ देश की लड़ाई को और मजबूती मिलेगी. उन्होंने कहा कि जो प्रजेंटेशन हुआ, उसमें विस्तार से बताया गया कि कितने दिनों से प्रयास चल रहे हैं और मौजूदा स्थिति क्या है

पीएम ने कहा कि सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों से बात हुई है और टीकाकरण को लेकर सभी ने अहम सुझाव दिए हैं. उन्होंने कहा कि कुछ दिनों पहले मेड इन  इंडिया के तहत वैक्सीन बनाने वाले वैज्ञानिकों से बात हुई थी. हमारे वैज्ञानिक अपनी वैक्सीन को लेकर बहुत आश्वस्त हैं. पीएम ने कहा कि अभी कुछ वैक्सीन के नाम दुनियाभर में चल रहे हैं लेकिन सबकी नजरें सबसे सस्ती वैक्सीन पर टिकी है. इस दिशा में पूरी दुनिया की नजरें भारत पर भी टिकी हैं

 

Also read:  Coronavirus India: पिछले 24 घंटे में सामने आए 45882 मामले, संक्रमणमुक्त मरीजों की संख्या 84 लाख के पार

पीएम ने कहा कि भारतीय वैक्सीन निर्माता कंपनियां और ICMR ग्लोबल प्रोड्यूसर्स के संपर्क में हैं. उन्होंने कहा कि एक्सपर्ट अब कह रहे हैं कि वैक्सीन अगले कुछ हफ्तों में तैयार हो जाएगी और जैसे ही वैज्ञानिकों की हरी झंडी मिलेगी, देश में टीकाकरण अभियान शुरू हो जाएगा. पीएम ने कहा कि टीका किन्हें पहले दिया जाना है, इस पर गाइडलाइंस बनाई जा रही है. उन्होंने कहा कि हमारी कैपिसिटी दुनिया भर के अन्य देशों से बेहतर है. हमारे पास बड़ा नेटवर्क है, उसका लाभ उठाया जाएगा.

Also read:  जापान से लौटते ही पीएम मोदी राज्यसभा के लिए भाजपा प्रत्याशीयों के नाम पर मुहर, किन-किन की खुलेगी लौटरी

पीएम ने कहा कि भारत ने एक विशेष सॉफ्टवेयर भी बनाया है, जिसमें कोरोना वैक्सीन के लाभार्थी, वैक्सीन के उपलब्ध स्टॉक और स्टोरेज से जुड़ी रियल टाइम जानकारी रहेगी. उन्होंने कहा कि भारत में कोरोना वैक्सीन के रिसर्च के लिए विशेष टास्क फोर्स बनाया गया था और वैक्सीन से जुड़े अभियान का दायित्व नेशनल एक्सपर्ट ग्रुप को दिया गया है, जिसमें टेक्निकल एक्सपर्ट हैं. केंद्र सरकार के संबंधित विभागों और मंत्रालयों के अधिकारी हैं और प्रत्येक जोन के हिसाब से राज्य सरकारों के भी प्रतिनिधि अधिकारी ग्रुप में शामिल हैं.