English മലയാളം

Blog

नई दिल्ली: 

कोरोना वायरस (Coronavirus) के बढ़ते मामलों के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को आठ राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये बात की. बैठक में दिल्ली, महाराष्ट्र, केरल समेत अन्य राज्यों के मुख्यमंत्री शामिल हुए. इस बीच, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) को बताया कि दिल्ली ने 10 नवंबर को 8600 मामलों का पिक देखा. उसके बाद से नए मामले और पॉजिटिविटी रेट कम हो रहा है और हम उम्मीद करते हैं कि यह ट्रेंड बना रहेगा. साथ ही उन्होंने केंद्र सरकार के अस्पतालों में 1000 आईसीयू बेड रिजर्व करने का आग्रह किया है.

Also read:  Budget Session: संसद के बजट सत्र का दूसरा चरण आज से शुरू,पेट्रोल डीजल कीमतों में बढ़ोतरी पर विपक्ष का हंगामा

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि तीसरे दौर में मामलों की इतनी गंभीरता के कई कारण हैं. प्रदूषण भी एक अहम कारण है. केजरीवाल ने प्रधानमंत्री से मांग की है कि वह दिल्ली से लगने वाले राज्यों में पराली से होने वाले प्रदूषण के मामले में दखल दें. यह ध्यान में रखते हुए कि पराली के समाधान के लिए पूसा का बायो डी कंपोजर उपलब्ध है.

Also read:  भारत की कोरोना वैक्सीन उत्पादन क्षमता दुनिया में सबसे बेहतर बोले UN महासचिव

केजरीवाल ने प्रधानमंत्री मोदी से कहा कि वह केंद्र सरकार के अस्पतालों में 1000 आईसीयू बेड तब तक के लिए रिज़र्व करें जब तक कोरोना की तीसरी लहर खत्म नहीं हो जाती है.

पीएम मोदी के साथ बैठक में महाराष्ट्र, दिल्ली, केरल, गुजरात, छत्तीसगढ़, राजस्थान, पश्चिम बंगाल और हरियाणा के मुख्यमंत्री बैठक कर रहे हैं.

Also read:  कोरोनाः दिल्ली में सस्ती होगी आरटी-पीसीआर जांच, केजरीवाल ने दिए आदेश

बता दें कि दिल्ली में सोमवार को लगातार चौथे दिन कोविड-19 से 100 से ज्यादा लोगों की मौत हुई है. दिल्ली में पिछले 24 घंटे में 121 लोगों की मौत हुई है जबकि 4454 नए मामले सामने आए हैं. राहत की बात है कि पिछले 24 घंटे में 7216 मरीज ठीक हुए हैं. दिल्ली में अभी रिकवरी रेट 91.42% है वहीं एक्टिव  मरीज 6.98% हैं. दिल्ली में पॉजिटिविटी रेट- 11.94% पर पहुंच गया है.