English മലയാളം

Blog

Screenshot 2022-07-18 100603

देश के 15वें राष्ट्रपति के लिए थोड़ी देर में चुनाव होने जा रहा है। संसद भवन और राज्य की विधानसभाओं में वोटिंग सुबह 10 बजे से शाम 6 बजे तक होगी।

 

चुनाव की तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। राष्ट्रपति पद के लिए एनडीए उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू और विपक्ष के प्रत्याशी यशवंत सिन्हा के बीच मुकाबला है। वोटों का गणित देखे तो द्रौपदी मुर्मू की जीत पक्की मानी जा रही है। अगर द्रौपदी मुर्मू राष्ट्रपति बनती हैं तो वह आदिवासी समुदाय की देश के शीर्ष संवैधानिक पद पर पहुंचने वाली पहली शख्सियत होंगी। मतदान के बाद सभी राज्यों से मत पेटियां दिल्ली लाई जाएंगी और 21 जुलाई को वोटों की गिनती के बाद देश के नए राष्ट्रपति के नाम की घोषणा कर दी जाएगी। 25 जुलाई को नए राष्ट्रपति का शपथ ग्रहण होगा।

Also read:  मणिपुर-नागालैंड सीमा पर दज़ुको घाटी के जंगलों में भीषण आग, CM बीरेन सिंह ने कहा दुर्भाग्यपूर्ण

चुनाव से पहले एनडीए के सांसदों के साथ बैठक में मुर्मू ने कहा कि देश के शीर्ष संवैधानिक पद के लिए उनके नामांकन से आदिवासी और महिलाएं उत्साहित हैं। द्रौपदी मुर्मू ने बैठक में कहा कि देश में 700 से अधिक समुदायों वाले करीब 10 करोड़ आदिवासी हैं और सभी मेरे नामांकन से खुश हैं।

Also read:  कारगिल विजय दिवस: राष्ट्रपति द्रौपती मुर्मू ने अपने अंदाज में किया कार्गिल दिवस को याद,