English മലയാളം

Blog

Screenshot 2021-12-18 153634

69 हजार शिक्षक भर्ती में नियमानुसार आरक्षण लागू करने की मांग को लेकर शनिवार को सैकड़ों शिक्षक भर्ती अभ्यर्थियों ने बेसिक शिक्षा मंत्री सतीश द्विवेदी के आवास पर प्रदर्शन किया। प्रदर्शन को लेकर उनकी पुलिस से काफी धक्कामुक्की व गुत्थमगुत्था भी हुई। अभ्यर्थियों को उठाने पहुंचे पुलिस वालों को ही अभ्यर्थियों ने जकड़ लिया। अंत में सभी अभ्यर्थी हिरासत में लेकर पुलिस लाइन भेजे गए।

Also read:  घोटालेबाजों ने खुद को दुबई का अरबपति बताकर उसके दोस्त को पैसे भेजने के लिए धोखा दिया

आरक्षण पीड़ित अभ्यर्थियों का कहना था कि इस भर्ती में ओबीसी वर्ग को 27% की जगह मात्र 3.86% आरक्षण दिया गया है तथा एससी वर्ग को इस भर्ती में 21% की जगह 16.6% आरक्षण दिया गया है।

ओबीसी वर्ग को इस भर्ती में उनके कोटे की 18598 सीट में से मात्र 2637 सीट ही दी गई है। जो पूरी तरह से गलत है। उनका यह भी कहना था कि इस भर्ती में बेसिक शिक्षा नियमावली 1981 तथा आरक्षण नियमावली 1994 का उल्लंघन हुआ है।

Also read:  हरियाणा के मदरसों में राष्ट्रगान होगा अनिवार्य, यूपी के मदरसों में हुआ लागू

अभ्यर्थियों का कहना था कि 29 अप्रैल 2021 को इस भर्ती में राष्ट्रीय पिछड़ा वर्ग आयोग ने भी घोटाला मानते हुए अपनी एक रिपोर्ट जारी की है। इसलिए उस रिपोर्ट को लागू किया जाए तथा राष्ट्रीय पिछड़ा वर्ग आयोग के सभी शिकायतकर्ताओं को न्याय दिया जाए। अभ्यर्थियों में इस बात को लेकर भी नाराजगी थी कि मंत्री ने सदन में कहा कि उन्हें आयोग की रिपोर्ट नहीं मिली जबकि यह 8 महीने पहले ही आ चुकी है।

Also read:  रोशनी नाडर सबसे रईस भारतीय महिला, जानें कौन है रोशनी नाडर, क्या करती है काम