English മലയാളം

Blog

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने निर्देश दिए हैं कि भारत बंद के दौरान अगर कोई कानून व्यवस्था हाथ में लेता है तो उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए। किसानों द्वारा भारत बंद के आह्वान को देखते हुए मुख्यमंत्री फील्ड में तैनात पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों को वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए निर्देश दे रहे थे।

इस मौकेपर मुख्यमंत्री ने कहा कि किसानों के साथ दुर्व्यवहार नहीं होना चाहिए। लेकिन फिर भी कोई कानून का उल्लंघन करता है तो उसके साथ सख्ती से पेश आया जाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में शान्ति व्यवस्था बनाए रखना सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है। बंद के दौरान आम जन को किसी भी तरह की असुविधा न हो, इसके पुख्ता इंतजाम किए जाएं। मुख्यमंत्री ने कहा कि सड़क मार्ग, रेल मार्ग व अन्य यातायात पर कोई असर नहीं पड़ना चाहिए।
उन्होंने अधिकारियों से यह भी कहा कि वे व्यापारियों से बात कर यह सुनिश्चित करें कि बाजार खुला रहे। मुख्यमंत्री ने कहा कि केंद्र व राज्य सरकार किसानों के हितों और उनके कल्याण केे लिए लगातार काम कर रही है। प्रस्तावित भारत बंद से किसान भ्रमित न हों। उन्होंने अधिकारियों के निर्देश दिए हैं कि वे स्थानीय स्तर पर किसान संगठनों और प्रतिनिधियों से संवाद कर उन्हें नए कृषि कानूनों के प्राविधानों केबारे में बताएं और उनकी समस्या का निराकरण करें।

Also read:  खुशखबरी: योगी सरकार ने दिया 16 लाख राज्य कर्मियों को दिया ये बड़ा तोहफा

पुलिस को हिदायत
आज बुलाए गए भारत बंद के मद्देनजर पुलिस अफसरों को किसानों के साथ सख्ती न बरतने की हिदायत दी जा चुकी है। पुलिस अधिकारियों से कहा गया है कि कहीं भी किसानों के साथ संघर्ष की नौबत न आने पाए। डीजीपी मुख्यालय स्तर से दिल्ली से सटे गाजियाबाद, गौतमबुद्धनगर व आसपास के जिलों के लिए अतिरिक्त फोर्स उपलब्ध कराई गई है।

Also read:  यूपी: प्रतापगढ़ में बोलेरो खड़े ट्रक में घुसी, छह बच्चों समेत 14 की मौत, सीएम ने किया मुआवजे का एलान