English മലയാളം

Blog

नई दिल्ली: 

बिहार विधानसभा चुनाव में ज्यादातर एग्जिट पोल संकेत दे चुके हैं कि राज्य में महागठबंधन की सरकार बन सकती है. अगर चुनावी नतीजे (Bihar Election Results 2020) उसी के मुताबिक रहे तो राजद नेता तेजस्वी यादवतीन नए रिकॉर्ड कायम करेंगे. वह देश में किसी भी राज्य के सबसे युवा मुख्यमंत्री होंगे. साथ ही बिहार में एक ही परिवार से सीएम बनने वाले तीसरे शख्स होंगे. अगर वह कमान संभालते हैं तो पहले ऐसे सीएम होंगे, जिनके माता-पिता भी मुख्यमंत्री रहे.

तेजस्वी का जन्म 9 नवंबर 1989 को हुआ था और उन्होंने 9 नवंबर 2020 को ही अपना 31वां जन्मदिन मनाया. आंकड़ों की बात करें तो देश के सबसे युवा मुख्यमंत्री एमओएच फारूक थे, जिन्होंने अप्रैल 1967 में 29 साल की उम्र में पुडुचेरी के मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ ली थी. हालांकि वह केंद्रशासित प्रदेश के मुख्यमंत्री थे, न कि किसी राज्य के. लिहाजा अगर 31 साल की उम्र में तेजस्वी सीएम बनते हैं तो उनके नाम किसी राज्य के सबसे युवा मुख्यमंत्री का रिकॉर्ड होगा.

Also read:  10 लाख जॉब पर नीतीश का तंज- 'पैसा कहाँ से लाओगे..जेल से? पर तेजस्वी का जवाब

अगर बिहार के सबसे युवा मुख्यमंत्री की बात करें तो सतीश प्रसाद सिंह के नाम यह उपलब्धि रही. उन्होंने जनवरी 1968 में 32 साल की उम्र में बिहार के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी. डॉ. जगन्नाथ मिश्रा 38 साल की उम्र में अप्रैल 1975 में बिहार के मुख्यमंत्री बने थे.

बिहार चुनाव (Bihar Election Results 2020) तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) को बहुमत मिला तो वह भारतीय सियासत में संभवतः पहले ऐसे मुख्यमंत्री होंगे, जिनके माता-पिता दोनों ही चीफ मिनिस्टर रहे हों. वह एक ही परिवार से तीन मुख्यमंत्री बनने के अब्दुल्ला परिवार के रिकॉर्ड की बराबरी भी करेंगे. इससे पहले उनके पिता लालू प्रसाद यादव 10 मार्च 1990 को पहली बार बिहार के मुख्यमंत्री बने थे. तब तेजस्वी महज चार माह के थे. लालू दो बार सीएम रहे. उनकी मां राबड़ी देवी ने 25 जुलाई 1997 को मुख्य़मंत्री पद की शपथ ली थी. राबड़ी देवी ने छोटे-छोटे कार्यकाल में तीन बार सत्ता संभाली. जम्मू-कश्मीर में शेख अब्दुल्ला, उनके बेटे फारूक अब्दुल्ला और फिर उनके उमर अब्दुल्ला सीएम बने.

Also read:  बिहार में चुनावी रैली में बोले PM नरेंद्र मोदी, अगर नीतीश सरकार ने त्वरित कार्रवाई नहीं की होती, तो COVID-19 ने कहीं ज़्यादा जानें ली होतीं

तेजस्वी ने बिहार चुनाव  (Bihar Election Results 2020) में इस बार 247 रैली और चार रोड शो किए. उन्होंने एक दिन में 19 रैली (2 रोड शो) कर अपने पिता लालू प्रसाद यादव का ही रिकॉर्ड तोड़ा. लालू प्रसाद के नाम एक दिन में 17 रैली का रिकॉर्ड था. तेजस्वी के राजनीतिक सलाहकार संजय यादव के मुताबिक, 31 अक्टूबर को सुबह पहली रैली उन्होंने सीतामढ़ी में सुबह 10 बजे की और शाम 4.45 बजे आखिरी रैली वैशाली में की. कई जगह रैली के लिए वह हेलीकॉप्टर से उतरते के बाद दौड़ते-दौड़ते मंच तक पहुंचते देखा गया.

Also read:  बिहार चुनाव : BJP ने किया 19 लाख नौकरियों, हर बिहारवासी को फ्री कोरोना वैक्सीन का वादा

तेजस्वी (Tejashwi Yadav) 25 साल के न होने के कारण 2014 का लोकसभा चुनाव नहीं लड़ सके. 2015 में उन्होंने राघोपुर विधानसभा से चुनाव लड़ा और जीता. तब जदयू और राजद का गठबंधन था. पिछले विधानसभा चुनाव (Bihar Election 2020) में राजद ने 81 और जदयू ने 70 सीटें जीतीं. वह 26 साल की उम्र में (नवंबर 2015 से जुलाई 2017 तक) बिहार के उप मुख्यमंत्री बने.

देश के क्रिकेट कप्तान विराट कोहली जिस वक्त दिल्ली के लिए खेल रहे थे, उस वक्त तेजस्वी (Tejashwi Yadav) राज्य की अंडर-19 टीम में थे. रणजी के एक सत्र में वह झारखंड के लिए भी खेले. वह चार साल तक आईपीएल में दिल्ली डेयरडेविल्स की क्रिकेट टीम में रिजर्व में रहे, लेकिन 2012 में वह खेल छोड़ सियासत से जुड़ गए.