English മലയാളം

Blog

नई दिल्ली: 

कोरोनावायरस (Coronavirus) महामारी के बीच COVID-19 वैक्सीन को लेकर तैयारियां जोरों पर हैं. सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (Serum Institute of India) ने भारत में कोविड-19 वैक्सीन “कोविशील्ड (Covishield)” के आपातकालीन इस्तेमाल की मंजूरी के लिए भारतीय औषधि महानियंत्रक (DGCI) के समक्ष आवेदन किया है. इसी के साथ, सीरम इंस्टीट्यूट (SII) कोरोना वैक्सीन के लिए आवेदन करने वाली दूसरी कंपनी बन गई है. सूत्रों ने यह जानकारी दी. इससे पहले, अमेरिकी दवा निर्माता कंपनी फाइजर (Pfizer) ने आवेदन किया था

समाचार एजेंसी भाषा ने सूत्रों के हवाले से एसआईआई के आवेदन का हवाला देते हुए कहा कि कंपनी ने बताया है कि क्लीनिकल परीक्षण के चार डाटा में यह सामने आया है कि कोविशील्ड लक्षण वाले मरीजों और खासकर कोविड-19 के गंभीर मरीजों के मामले में खासी प्रभावकारी है. चार में से दो परीक्षण डाटा ब्रिटेन जबकि एक-एक भारत और ब्राजील से संबंधित है.

Also read:  सीरम ने चेन्नई के प्रतिभागी के साइड-इफेक्ट के दावे को नकारा, 100 करोड़ के मानहानि केस की दी चेतावनी

सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया ने भारत में कोविशील्ड वैक्सीन के ट्रायल के लिए AstraZeneca Plc के साथ भागीदारी की है. आवेदन का हवाला देते हुए कहा गया, “कोविशील्ड सुरक्षित है और टारगेट आबादी में कोरोना के रोकथाम के लिए प्रभावी तरह से इस्तेमाल किया जा सकता है.”

Also read:  बिहार राजनीति में बड़ा भूचाल, चीराग पासवान ने कहा-बिहार में हो फ्रेश चुनाव या लगे राष्ट्रपति शासन, जोड़तोड़ की सरकार नहीं चलेगी

हाल ही में दवा निर्माता कंपनी फाइजर (Pfizer) की भारतीय इकाई ने उसके द्वारा विकसित कोविड-19 टीके के आपातकालीन इस्तेमाल की औपचारिक मंजूरी के लिए भारतीय औषधि महानियंत्रक (DGCI) के समक्ष आवेदन किया. फाइजर ने उसके Covid-19 टीके को ब्रिटेन और बहरीन में ऐसी ही मंजूरी मिलने के बाद यह अनुरोध किया है.

भारत समेत दुनिया भर के 180 से ज्यादा देश कोरोनावायरस संक्रमण से प्रभावित हैं. दुनिया में अब तक साढ़े छह करोड़ से ज्यादा लोग COVID-19 की चपेट में आ चुके हैं. इस महामारी ने दुनिया भर में 15 लाख से अधिक लोगों की जान ले ली है. भारत में रविवार को कोरोना वायरस संक्रमण के कुल मामलों की संख्या बढ़कर 96 लाख 44 हजार से अधिक हो गई. अब तक कुल मृतकों की संख्या 1,40,182 हो गई है. ठीक होने वाले मरीजों की संख्या 91,00,792 हो चुकी है.

Also read:  अकाल तख्त के जत्थेदार ज्ञानी हरप्रीत ने शनिवार को एक वीडियो संदेश में कहा, "दुनिया भर में रहने वाले हर सिख के मन में सबसे बड़ा सवाल