English മലയാളം

Blog

नई दिल्ली: 

Coronavirus Vaccine : ऐसे में जब भारत, दुनिया का सबसे बड़ा कोरोनावायरस का वैक्सीनेशन प्रोग्राम शुरू करने वाला है, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सोमवार को राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ वैक्सीनेशन ड्राइव को लेकर एक बड़ी बैठक करने वाले हैं. शनिवार से पूरे देश में बड़े स्तर पर वैक्सीनेशन शुरू हो रहा है. पिछले हफ्ते देश की ड्रग कंट्रोलर जनरल संस्था ने देश में दो वैक्सीन- Bharat Biotech की Covaxin और Serum Institute of India की Covishield के इमरजेंसी यूज़ की अनुमति दे दी थी, जिसके बाद पीएम की मुख्यमंत्रियों के साथ यह पहली बैठक है.

Also read:  ममता का बीजेपी पर वार कहा, यूपी, एमपी और गुजरात में केस दर्ज नहीं होते हैं, बंगाल में बेहतर है कानून व्यवस्था

शनिवार को पीएम ने वरिष्ठ अधिकारियों के साथ कोविड के हालात की समीक्षा के लिए उच्च स्तरीय बैठक की थी, जिसके बाद उन्होंने ट्वीट किया था कि ’16 जनवरी को भारत कोविड-19 के खिलाफ अपनी लड़ाई में एक बड़ा कदम उठाने जा रहा है. उस दिन से भारत राष्ट्रीय स्तर पर वैक्सीनेशन ड्राइव शुरू करेगा. सबसे पहली प्राथमिकता हमारे बहादुर डॉक्टरों, स्वास्थ्य कर्मचारियों और सफाई कर्मचारियों सहित फ्रंटलाइन वर्कर्स को दी जाएगी.

Also read:  Coronavirus India: दैनिक मामलों में एक बार फिर बढ़ोतरी, पिछले 24 घंटे में सामने आए 15,968 नए मामले

बता दें कि सरकार अब तक कोरोना के वैक्सीन का तीन ड्राई रन करा चुकी है, जिनमें से दो ड्राई रन पूरे देश में एक साथ कराए गए हैं, ताकि डिलीवरी सिस्टम की टेस्टिंग की जा सके. सरकार टीकाकरण के इसे पूरे कार्यक्रम को अपने CoWIN (Covid Vaccine Intelligence Network) के जरिए मैनेज करेगी.

Also read:  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जो बाइडन से की बात,परस्पर रणनीतिक साझेदारी के प्रति जताई प्रतिबद्धता

CoWIN हर वैक्सीन बेनेफिशियरी का ट्रैक रखेगा. अभी तक इस प्लेटफॉर्म पर 79 लाख लोगों को रजिस्टर किया गया है. पहले 1 करोड़ स्वास्थ्य कर्मचारियों को टीका लगाया जाएगा, जिसके बाद 2 करोड़ फ्रंटलाइन वर्कर्स, जिसमें पुलिस कर्मचारी और ITBP कर्मचारी रहेंगे.इसके बाद 27 करोड़ लोग, जिसमें 50 साल से ऊपर के लोग और को-मॉर्बिडिटीज़ कंडीशन वाले लोगों को टीका लगाया जाएगा.