English മലയാളം

Blog

MOHAMMED SIRAJ

IPL 2020: आईपीएल 2020 के 39वे मैच में आरसीबी ने केकेआर (KKR vs RCB) को 8 विकेट से हरा दिया. बैंगलोर की टीम के लिए गेंदबाज मोहम्मद सिराज (Mohammed Siraj) ने कमाल करते हुए 3 विकेट झटके. वहीं आईपीएल के इतिहास में पहले ऐसे गेंदबाज बने जिन्होंने 2 मेडन ओवर फेंकने का कमाल का रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया. सिराज ने 3 विकेट झटके और केकेआर के बल्लेबाजों की कमर तोड़ दी. सिराज ने अपनी स्विंग गेंदों पर नीतिशा राणा, राहुल त्रिपाठी और टॉम बैंटन जैसे बल्लेबाज को पवेलियन की राह दिखाई, इस सीजन में सिराज अपने रंग में नजर आ रहे हैं उनकी गेंदबाजी में पैनापन भी नजर आ रहा है.  21 अक्टूबर को खेले गए मैच में सिराज ने केकेआर के शुरूआती विकेट लेकर उनकी पारी को लड़खड़ा दिया जिसके बाद इस नुकसान के बाद कोलकाता की टीम फिर वापस मैच में वापसी नहीं कर पाई.सिराज ने भारत की ओर से अबतक 1 वनडे और 3 टी-20 इंटरनेशनल मैच खेले हैं.

Also read:  Ind Vs Aus 3rd T20I: दर्शक दीर्घा में दिखा विराट कोहली का 'डुप्लीकेट', देखकर भारतीय कप्तान का रहा ऐसा रिएक्शन

सिराज ने क्रिकेटर बनने के लिए संघर्ष भी काफी किया है. मोहम्मद सिराज का जन्म हैदराबाद में एक गरीब परिवार में हुआ था. सिराज के पिता मोहम्मद गौस एक ऑटो ड्राइवर थे, पिता की ही जिद्द थी की सिराज एक क्रिकेटर बने. इसके लिए उनके पिता ने सिराज को किसी भी चीज की कमी नहीं होने दी. अपने शरूआती क्रिकेट के दिनो में सिराज ज्यादा से ज्यादा प्रैक्टिस किया करते थे, यहां तक कि रात में भी उन्हें मौका मिलता था तो वो क्रिकेट की प्रैक्टिस करने चले जाते थे. सिराज ने पहली बार क्रिकेट खेलना उस समय शुरू किया जब वो क्लास 7वीं में पढ़ते थे. सिराज ने मेहनत की और आखिर में फर्स्ट क्लास क्रिकेट में डेब्यू करने में सफल रहे. घरेलू किकेट में शानदार पऱफॉर्मेंस का फल उनको मिला औऱ साल 2017 के आईपीएल में हैदराबाद की टीम ने 2.6 करोड़ रूपये में खरीदकर टीम में शामिल किया.

Also read:  IPL 2020 KKR vs RR : राजस्थान की टीम ने टॉस जीतकर केकेआर को दिया पहले बल्लेबाजी का न्योता

आईपीएल में खेलने के बाद सिराज (Mohammed Siraj) ने साल 2017 में भारतीय टी-20 टीम में डेब्यू करने में सफल रहे. भारतीय टीम में डेब्यू करने के बाद सिराज ने फिर कभी भी पीछे मुड़कर नहीं देखा, हालांकि कुछ समय पहले उनकी गेंदबाजी को लेकर कई तरह की बातें होती रही लेकिन उन्होंने फिर हिम्मत नहीं हारी और अपने काम को ईमानदारी से करते थे. आखिर में आईपीएल 2020 में केकेआर के खिलाफ मैच में एक ऐसा इतिहास बनाया जो आईपीएल में इससे पहले कभी नहीं बना था.

Also read:  IPL: अस्पताल में क्रिस गेल की मस्ती देख युवराज सिंह से रहा नहीं गया, बोले- काका...'