English മലയാളം

Blog

जम्मू: 

जम्मू-कश्मीर में भाजपा के पूर्व मंत्री श्याम लाल चौधरी को जिला विकास परिषद (डीडीसी) चुनाव में जम्मू की सुचेतगढ़ सीट से 11 मतों के मामूली अंतर से हार का सामना करना पड़ा है. अधिकारियों ने बुधवार को यह जानकारी दी. बुधवार को मतगणना के दौरान फारुक अब्दुल्ला नीत सात दलों का गुपकर गठबंधन 280 में से 112 सीटों पर या तो जीत दर्ज कर चुका है या आगे चल रहा है. भाजपा 74 सीटें जीतकर सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है. उसे पहली बार कश्मीर घाटी में तीन सीटों पर जीत मिली है.

Also read:  COVID-19 update : देश में पिछले 24 घंटे में 16,311 नए कोविड केस आए, 161 की हुई मौत

जम्मू में भाजपा को 11 सीटों पर जीत मिली. निर्दलीय उम्मीदवारों को दो सीट पर जबकि एक सीट पर नेशनल कॉन्फ्रेंस को जीत हासिल हुई. राज्य के निर्वाचन आयोग के आंकड़ों के अनुसार जम्मू जिले की सुचेतगढ़ सीट पर श्याम लाल चौधरी को 12,958 वोट मिले जबकि उनके प्रतिद्वंद्वी निर्दलीय उम्मीदवार तरनजीत सिंह 12,969 मतों के साथ विजयी रहे. चौधरी पूर्ववर्ती राज्य जम्मू-कश्मीर में भाजपा-पीडीपी गठबंधन सरकार में कैबिनेट मंत्री रह चुके हैं. वह 2014 और 2008 में सुचेतगढ़ विधानसभा चुनाव में अपनी जीत दर्ज करा चुके हैं.

Also read:  ब्रिटेन से भारत आए 22 यात्री कोरोना पॉजिटिव पाए गए, नमूने एडवांस टेस्ट के लिए भेजे गए

उन्हें आरएस पुरा की सीमा बेल्ट में एक शक्तिशाली नेता के तौर पर जाना जाता है. केन्द्र शासित प्रदेश में डीडीसी का चुनाव 28 नवम्बर से शुरू होकर आठ चरणों में पूरा हुआ. अगस्त, 2019 में संविधान के अनुच्छेद 370 के अधिकतर प्रावधानों को समाप्त कर जम्मू-कश्मीर का विशेष राज्य का दर्जा खत्म किए जाने के बाद प्रदेश में यह पहला चुनाव है. चुनाव में कुल 280 सीटें (जम्मू की 140 और कश्मीर की 140) पर मतदान हुआ है.

Also read:  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने भाषण के दौरान कांग्रेस नेता राहुल गांधी की 'मत्स्यपालन मंत्रालय बनाएंगे' वाली टिप्पणी सुनकर हैरान, PM बोले "मैं स्तब्ध था..."