English മലയാളം

Blog

दादरा नगर हवेली के सांसद मोहन ढेलकर का शव (Dadra and Nagar Haveli MP Died Suicide Suspected ) मुम्बई के एक होटल में मिला है. मरीन ड्राइव के होटल सी ग्रीन में उनका शव मिला है. उनके खुदकुशी करने की आशंका जताई जा रही है. पुलिस के आला अधिकारी मौके पर पहुंच रहे हैं. पुलिस अधिकारी जांच कर रहे हैं कि उनकी मौत की वजह क्या रही.

मुंबई पुलिस ने एक अधिकृत बयान में कहा है कि दादरा एवं नगर हवेली के सांसद मोहन संजीभाई ढेलकर का शव जिस होटल में मिला है, वह मरीन ड्राइव पुलिस स्टेशन के दायरे में आता है. पुलिस को मौके से एक सुसाइड नोट मिला है. जांच जारी है. मौत की वजह का पता पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही पता लगेगा.

Also read:  कृषि कानून: कल सड़क पर उतरेंगे राहुल गांधी, विजय चौक से राष्ट्रपति भवन तक करेंगे मार्च

छह बार लोकसभा सांसद रहे ढेलकर ने अपने राजनीतिक करियर की शुरुआत सिलवासा में ट्रेड यूनियन लीडर के तौर पर शुरू की थी. उन्होंने 1985 में आदिवासी विकास संगठन की स्थापना की. वर्ष 1989 में वह पहली बार दादरा नगर हवेली से लोकसभा के लिए निर्दलीय सांसद के तौर पर चुने गए.

Also read:  कोरोना वायरस : यूके स्ट्रेन के बाद अब साउथ अफ्रीका और ब्राजील स्ट्रेन की भी भारत में हुई एंट्री

वर्ष 1991 और 1996 का चुनाव उन्होंने कांग्रेस के टिकट पर जीता. 1998 में वह बीजेपी के टिकट पर लोकसभा पहुंचे. ढेलकर ने 1999 में निर्दलीय और 2004 में भारतीय नवशक्ति पार्टी के चिन्ह पर लोकसभा चुनाव में जीत दर्ज की. 2020 में वह जनता दल यूनाइटेड में शामिल हो गए.

Also read:  बॉलीवुड एक्ट्रेस तापसी पन्नू, फ़िल्ममेकर अनुराग कश्यप और विकास बहल के यहां इनकम टैक्स का छापा

ढेलकर ने गुजरात और दादरा एवं नगर हवेली में आदिवासियों के अधिकारियों की लड़ाई के लिए भारतीय नवशक्ति पार्टी स्थापना की थी. पार्टी की स्थापना के पहले वह पप्पू यादव के जन अधिकार मंच से भी जुड़े रहे. वर्ष 2000 में बीएनपी ने दादरा एवं नगर हवेली में पंचायत चुनाव कांग्रेस के साथ मिलकर लड़ा. गठबंधन ने 12 में से 10 सीटें जीतीं. हालांकि 2009 के चुनाव के पहले उन्होंने अपनी पार्टी का कांग्रेस में विलय करा दिया.