English മലയാളം

Blog

अमेरिका में मतदान के दो दिन बाद भी राष्ट्रपति पद की तस्वीर साफ नहीं हो सकी है। मतगणना के बीच डेमोक्रेट उम्मीदवार जो बाइडेन ने 253 निर्वाचक मंडल मतों के साथ निर्णायक बढ़त बना ली है। वहीं, मौजूदा राष्ट्रपति और रिपब्लिकन उम्मीदवार डोनाल्ड ट्रंप 214 मतों के साथ व्हाइट हाउस की दौड़ में पिछड़ते दिख रहे हैं। ट्रंप कानूनी लड़ाई के फैसले पर आगे बढ़ गए हैं। दूसरी ओर, उनके समर्थक धांधली का आरोप लगाते हुए कई राज्यों में मतगणना केंद्रों के बाहर जुट गए हैं। समर्थकों ने कई जगह हंगामा और प्रदर्शन किया। अमेरिकी मीडिया संगठनों के अनुमान के अनुसार बाइडेन को जीत के लिए केवल 6 से 17 निर्वाचक मंडल मत चाहिए। जबकि ट्रंप 270 के जादुई आंकड़े से करीब 56 मत दूर हैं।

मतगणना रोकने की ट्रंप की मांग से रिपब्लिकन नेताओं में मतभेद
चुनाव में गलत तरह से जीत घोषित करने और पेनसिल्वेनिया तथा अन्य राज्यों में मतगणना रोकने के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के प्रयासों से कुछ रिपब्लिकन नेताओं ने खुद को अलग कर लिया और फिर से राष्ट्रपति बनने के लिए उतावले ट्रंप को ऐसे में अपनी पार्टी में मजबूत समर्थन नहीं मिल रहा है। केंटकी में सीनेट का चुनाव जीत चुके ट्रंप के सहयोगी एवं सीनेट के बहुमत नेता मिच मैककॉनेल ने संवाददाताओं से कहा कि मतगणना समाप्त नहीं हुई है और चुनाव जीतने का दावा किया जा रहा है।

Also read:  बंगाल चुनाव से पहले तृणमूल कांग्रेस के द‍िनेश त्रिवेदी ने राज्‍यसभा सांसद पद से द‍िया इस्‍तीफा

लोकतंत्र कई बार उलझावपूर्ण हो जाता है, थोड़ा धैर्य रखने की जरूरत : बाइडेन
अमेरिका चुनाव के नतीजों में आने में लग रहे समय पर राष्ट्रपति पद के डेमोक्रेटिक पार्टी के उम्मीदवार जो बाइडेन ने कहा कि लोकतंत्र कई बार उलझावपूर्ण हो जाता है और धैर्य रखने की जरूरत होती है। बाइडेन ने अमेरिकियों से मतों की गिनती पूरी होने तक शांत रहने और धैर्यपूर्वक इंतजार करने की अपील की।

जनता अपना राष्ट्रपति चुनती है, राष्ट्रपति अपने मतदाता नहीं चुनते: न्यूयार्क की अटॉर्नी जनरल
न्यूयार्क की अटॉर्नी जनरल लेटिटिया जेम्स ने अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव की निष्पक्षता पर सवाल उठाने के लिए राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के प्रति नाराजगी जताई है और कहा है कि अमेरिका में जनता अपना राष्ट्रपति खुद चुनती है और जनता की जो इच्छा है वह सुनी जाएगी।

मिशिगन और जॉर्जिया में याचिका खारिज
अमेरिका की अदालतों ने चुनाव में कथित गड़बड़ी के खिलाफ राष्ट्रपति चुनाव में रिपब्लिकन पार्टी के उम्मीदवार डोनाल्ड ट्रंप के प्रचार अभियान की ओर से मिशिगन और जॉर्जिया में दर्ज कराए गए मुकदमों को खारिज कर दिया है।

ट्रंप प्रचार अभियान ने मिशिगन में अनुपस्थित मतपत्रों (जब कोई व्यक्तिगत रूप से मतदान केन्द्र में नहीं जा कर बल्कि अन्य किसी माध्यम से मतदान करता है) की गिनती रोकने का अनुरोध किया था, वहीं जॉर्जिया में प्रचार अभियान ने आरोप लगाया कि वहां अनुचित मतों की भी गणना की जा रही है।

Also read:  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जो बाइडन से की बात,परस्पर रणनीतिक साझेदारी के प्रति जताई प्रतिबद्धता

जॉर्जिया में बाइडेन कर सकते है उलटफेर
अमेरिका के जॉर्जिया में अब लड़ाई उलटफेर की तरफ बढ़ती हुई दिख रही है। यहां पहले डोनाल्ड ट्रंप बढ़त बनाए हुए थे लेकिन अब जो बाइडेन आगे बढ़ रहे हैं। दोनों उम्मीदवारो के बीच अब केवल दो हजार वोटों का अंतर रह गया है। अबतक लगभग 98 प्रतिशत वोटों की गिनती हो गई है। राज्य में केवल 16 इलेक्टोरल वोट हैं।

फेसबुक ने ट्रंप समर्थकों के एक समूह को किया बैन
फेसबुक ने डोनाल्ड ट्रंप समर्थकों के एक बड़े समूह को प्रतिबंधित कर दिया है। इन्होंने ‘स्टॉप द स्टील’ अभियान शुरू किया था। इस समूह में हिंसा फैलाने की बात की जा रही थी और वोटों की गिनती में धांधली रोके जाने की अपील की गई थी। अमेरिकी चुनाव को लेकर फेसबुक, ट्विटर और इंस्टाग्राम सख्ती बरतते आए हैं। उन्होंने कई पोस्ट पर रोक लगाई है।

डोनाल्ड ट्रंप ने लगाया फर्जीवाड़े का आरोप
डोनाल्ड ट्रंप ने एक बार फिर चुनाव में फर्जीवाड़े का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि अगर केवल कानूनी वोटों को गिना जाए तो मैं आसानी से जीत जाऊंगा, लेकिन फर्जी वोटों को गिना जा रहा है। मुझे लगता है कि हम ये चुनाव आसानी से जीत जाएंगे। हमारे पास बहुत सबूत हैं, हम इस लड़ाई को अदालत लेकर जाएंगे।

Also read:  डोनाल्ड ट्रंप ने आखिरकार दिए व्हाइट हाउस छोड़ने के संकेत

मिशिगन और जॉर्जिया में ट्रंप द्वारा दायर केस खारिज 
मिशिगन और जॉर्जिया में राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की तरफ से दायर केस खारिज कर दिए गए हैं। ट्रंप ने इन दोनों राज्यों में पोस्टल बैलेट की गिनती रोकने की मांग की थी। जिसे दोनों राज्यों की अदालत ने मानने से इनकार कर दिया।

बाइडेन ने ट्वीट कर कहा कि ‘कोई भी हमारे लोकतंत्र को हमसे दूर नहीं ले जाएगा’
जो बाइडेन ने ट्वीट कर कहा कि ‘कोई भी हमारे लोकतंत्र को हमसे दूर नहीं ले जाएगा। अभी नहीं, कभी नहीं। अमेरिका बहुत दूर आ गया है, बहुत सारी लड़ाइयां लड़ी हैं, और ऐसा होने देने के लिए बहुत अधिक संघर्ष किया है।’