English മലയാളം

Blog

Screenshot 2022-02-24 081212

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव जैसे-जैसे आगे बढ़ रहा है, वैसे-वैसे ही राजनीति और गहराती जा रही है। अब चुनाव में भगवान गौतम बुद्ध के अपमान का मुद्दा उठा है।

 

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव जैसे-जैसे आगे बढ़ रहा है, वैसे-वैसे ही राजनीति और गहराती जा रही है। अब चुनाव में भगवान गौतम बुद्ध के अपमान का मुद्दा उठा है। बीजेपी ने अखिलेश यादव पर भगवान गौतम बुद्ध के अपमान का आरोप लगाया है। एक तरफ उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने वीडियो ट्वीट कर पूछा कि आखिर अखिलेश यादव को भगवान गौतम बुद्ध से इतनी नफरत क्यों है तो वहीं दूसरी तरफ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने भाषण में अखिलेश यादव पर कटाक्ष किया कि उन्होंने भगवान गौतम बुद्ध की प्रतिमा नहीं स्वीकारी किया जबकि चांदी का मुकुट लपक लिया।

Also read:  Sulli Deals और Bulli Bai केस के आरोपियों को दिल्ली की एक अदालत ने दी जमानत

केशव प्रसाद मौर्य ने ट्वीट किया वीडियो

केशव प्रसाद मौर्य ने एक 7 सेकेंड का वीडियो ट्वीट किया है. वीडियो में अखिलेश यादव मंच पर दिखाई दे रहे हैं। उन्हें भगवान गौतम बुद्ध की प्रतिमा भेंट की जाती है, जिसे वह एक तरफ रखने का इशारा करते हुए दिखाई दे रहे हैं। ऐसे में केशव प्रसाद मौर्य ने वीडियो ट्वीट करते हुए अखिलेश यादव से पूछा कि उन्हें भगवान गौतम बुद्ध से इतनी नफरत क्यों है। उन्होंने ट्वीट में लिखा, “श्री अखिलेश यादव जी भगवान तथागत गौतम बुद्ध से इतनी नफ़रत क्यों करते हो, क्या यह भी नई सपा का चरित्र है!”

Also read:  नाबालिग बेटी लापता होने पर पिता ने की आत्मदाह की कोशिश, सुरक्षाकर्मी ने बचाई जान

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का कटाक्ष

बुधवार को कौशांबी में आयोजित जनसभा में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भी इस वाकये का जिक्र किया और अखिलेश यादव पर कटाक्ष किया. पीएम ने कहा, “ये घोर परिवारवादी किस तरह दलितों का अपान करते हैं, यह उस वीडियो में साफ दिखाई देता है।” उन्होंने कहा कि इन घोर परिवारवादियों को भगवान गौतम बुद्ध की प्रतिमा तक भी स्वीकार करना गवारा नहीं है। उन्हें भगवान बुद्ध की प्रतिमा लेने का मन नहीं करता है लेकिन चांदी का मुकुट देखा तो मुंह में पानी भर आया…और उसे लपक लिया।

Also read:  दुबई: नए साल की पूर्व संध्या समारोह "ईव ऑफ वंडर्स" के लिए तैयार

क्या है मामला?

वीडियो मंगलवार का है जब अखिलेश यादव ने कौशांबी के सिराथू में एक जनसभा की थी। उसी दौरान उन्होंने मंच पर पहले भगवान गौतम बुद्ध की प्रतिमा भेंट की गई थी, जिसे वह साइड में रखने (बिना हाथ लगाए ही) की बात कहते दिख रहे थे। वहीं, बाद में उन्हें चांदी की मुकुट भेंट किया गया, जिसे उन्होंने पहन लिया। इसी लेकर ही भाजपा हमलावर है।