English മലയാളം

Blog

Screenshot 2022-03-02 143850

भारत को रूस से मिलना बंद होगा S-400 एयर डिफेंस सिस्टम? राजदूत ने कही ये बड़ी बात रूस और यूक्रेन के बीच जारी लड़ाई (Ukraine Russia War Updates) के बीच क्या रूस से भारत को एस-400 एयर डिफेंस सिस्टम (S-400 Air Defence System) की डिलीवरी प्रभावित हो सकती है?

 रूस और यूक्रेन के बीच चल रही लड़ाई (Ukraine Russia War Updates) लगातार सातवें दिन जारी है और ऐसे में यह सवाल उठने लगा है कि क्या इसका असर रूस के साथ भारत के रक्षा सौदों (Defense Deals with Russia) पर पड़ेगा? क्या पश्चिमी देशों द्वारा रूस पर कई सारे आर्थिक प्रतिबंध (Economic Sanctions) लगाने की स्थिति में एस-400 एयर डिफेंस सिस्टम (S-400 Air Defence System) की डिलीवरी प्रभावित हो सकती है? इसका जवाब रूसी राजदूत ने दिया है।

Also read:  गर्मी ने तोड़ा रिकोर्ड नहीं मिलेगी लू से राहत, बाड़मेर रहा देश का सबसे गर्म शहर

जानिए रूसी राजनयिक ने क्या कहा

भारत में मौजूद रूसी राजदूत डेनिस अलीपोव (Denis Alipov) ने  कहा, ‘मुझे भारत को एस-400 एयर डिफेंस सिस्टम (S-400 Air Defence System) की आपूर्ति के संबंध में कोई बाधा नहीं दिखती है। हमारे पास इस सौदे को जारी रखने के लिए तंत्र है। ‘ उन्होंने आगे कहा, ‘रूस हमेशा राख से उठ खड़ा हुआ है और यह फिर से उठेगा। हमने पूरी तरह से सुरक्षित करने के लिए कदम उठाए हैं। हमारी अर्थव्यवस्था दबाव से बाहर निकलेगी।

Also read:  पंजाब कांग्रेस को लगा बड़ा झटका, पूर्व मंत्री जोगिंदर सिंह मान ने ज्वाइन की आप

रूस-भारत के बीच एस-400 एयर डिफेंस सिस्टम डील

भारत को रूस से एस-400 एयर डिफेंस सिस्टम की पहली खेप मिल चुकी है, लेकिन अभी चार अन्य की डिलीवरी होनी है। रूस की तरफ से अभी तक डिलीवरी में देरी का कोई संकेत नहीं मिले हैं, लेकिन यूक्रेन के साथ यह संकट लंबा चला तो यह चिंता का विषय जरूर हो सकता है। इसके अलावा CAATSA कानून के तहत खरीदारी के लिए अमेरिका का भारत पर प्रतिबंध एक अलग संभावना है। अभी तक अमेरिका चीन और तुर्की पर प्रतिबंध लगा चुका है, लेकिन भारत को नजरअंदाज किया गया है।

रूस-यूक्रेन संकट से भारत को ज्यादा नुकसान का अनुमान

रूस-यूक्रेन संकट ( Russia-Ukraine Crisis) के चलते वैश्विक बाजार (Global Market) पर खतरा बरकरार है। दुनियाभर के शेयर बाजार बुरी तरह लड़खड़ाकर संभल रहे हैं। कुछ देशों की करेंसी वैल्यू पर असर पड़ा है। इस भू-राजनीतिक तनाव (Geopolitical Tensions) का और बुरा असर ग्लोबल मार्केट पर दिख सकता है। मशहूर फाइनेंशियल एंड रिसर्च कंपनी नोमुरा (Nomura) की रिपोर्ट के मुताबिक यूक्रेन संकट के चलते एशिया में सबसे बड़ा असर भारत (Ukraine conflict Effect on India) पर हो सकता है। क्रूड ऑयल (Crude Oil Prices) की आसमान छूती कीमतों का असर भारत को सबसे अधिक प्रभावित कर सकता है।