English മലയാളം

Blog

Screenshot 2022-02-09 101036

 कनाडा में टीकाकरण (Vaccination) के विरोध में हो रहे हिंसक प्रदर्शन को देखते हुए भारत ने वहां रहने वाले अपने नागरिकों से सतर्क रहने को कहा है। कनाडा में भारत के उच्चायोग ने मंगलवार को इस संबंध में एक एडवाइजरी जारी की।

 

इसमें कहा गया है कि वर्तमान हालात को देखते हुए कनाडा में रहने वाले और यहां आने की योजना बनाने वाले भारतीयों को अत्यधिक सतर्क और चौकस रहने की जरूरत है। उन्हें प्रदर्शन वाले क्षेत्रों में जाने से बचना चाहिए।

उच्चायोग ने कहा कि ओटावा में आपात स्थिति की घोषणा कर दी गई है। दूसरे शहरों में भी कर्फ्यू लगाया जा सकता है। बता दें कि ओटावा और टोरंटो समेत कनाडा के सभी प्रमुख शहरों में विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं। इसमें ट्रक चालक भी शामिल हो गए हैं। इसके चलते देश के कई हिस्से में आवश्यक सामान की किल्लत भी होने लगी है।

Also read:  टीम इंडिया साउथ अफ्रीका दौरे पर हुई रवाना, तस्वीरों आई सामने

 

 

Also read:  बिजली सेक्टर के समक्ष उत्पन्न कोयला संकट को दूर करने के लिए केंद्र सरकार राज्यों पर ज्यादा कोयला आयात का बना रही दबाव

बता दें कि कनाडा की राजधानी ओटावा के मेयर जिम वाटसन ने कोरोना वैक्सीन जनादेश के विरोध में ट्रक चालकों के लगातार नौ दिनों के विरोध के बाद आपातकाल की घोषणा कर दी। मेयर ने कहा कि जारी विरोध प्रदर्शनों से निवासियों की सुरक्षा, गंभीर खतरे देखते हुए आपातकाल की घोषणा की गई है। कनाडा के मेयर ने कहा है कि अमेरिका में मौजूद गुटों को पड़ोसी देश के आंतरिक मामलों में हस्‍तक्षेप नहीं करना चाहिए।

रिपोर्ट के अनुसार, ओटावा पुलिस सेवा के प्रमुख पीटर स्लोली ने पुलिस बोर्ड की एक विशेष बैठक में कहा कि उनके बल के पास इस शहर में पर्याप्त और प्रभावी ढंग से पुलिस व्यवस्था प्रदान करने के लिए पर्याप्त संसाधन नहीं हैं। वाटसन ने कहा कि हजारों प्रदर्शनकारी इकट्ठा हो गए हैं, जहां ट्रकों ने आवासीय सड़कों को बंद कर दिया है। शनिवार को, ट्रैक्टर-ट्रेलरों और निजी वाहनों ने विरोध के दूसरे सप्ताह में शामिल होने के लिए ओटावा शहर में एंट्री की, जिसका उद्देश्य जस्टिन ट्रूडो के नेतृत्व वाली सरकार की वैक्सीन आवश्यकता के विरोध में आवाज उठाना था।

Also read:  अनुराग ठाकुर ने AAP पर साधा निशाना, कहा- AAP के रिश्ते जिन लोगों से हैं चुनाव के दौरान इस पर उठे थे सवाल