English മലയാളം

Blog

Screenshot 2023-03-24 161034

तेलंगाना के कैबिनेट मंत्री के.टी. रामाराव ने शुक्रवार को बीआरएस को ‘भारत रायथु समिति’ बताया। भारत राष्ट्र समिति (बीआरएस) के कार्यकारी अध्यक्ष ने कहा कि तेलंगाना देश का एकमात्र राज्य है, जो किसानों को प्रति एकड़ 10 हजार रुपये निवेश सहायता में और फसल नुकसान के लिए 10 हजार रुपये प्रति एकड़ का मुआवजा भी दे रहा है।

 

केटीआर, मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव की इस घोषणा पर प्रतिक्रिया दे रहे थे कि सरकार उन किसानों के लिए प्रति एकड़ मुआवजे के रूप में 10 हजार रुपये देगी, जिनकी फसल हाल ही में बेमौसम बारिश और ओलावृष्टि के कारण क्षतिग्रस्त हो गई थी। मुख्यमंत्री ने गुरुवार को प्रभावित जिलों के दौरे के दौरान यह घोषणा की थी। केटीआर ने ट्विटर पर एक तस्वीर साझा की, इसमें मुख्यमंत्री केसीआर एक किसान के कंधे पर हाथ रखकर सांत्वना देते नजर आ रहे हैं।

Also read:  दिल्ली हाई कोर्ट ने कहा- पति-पत्नी के बीच यौन संबंधों को बलात्कार नहीं कहा जा सकता

बीआरएस से बेहतर विकल्प देने का कर रहे हैं वादा

बीआरएस के कार्यकारी अध्यक्ष ने लिखा कि किसानों को केसीआर पर पूरा भरोसा है। उन्होंने लोगों को आगाह भी किया कि अगर गलती से उन्होंने दूसरों पर भरोसा कर लिया तो तेलंगाना 100 साल पीछे चला जाएगा। तेलंगाना में इस साल के अंत में विधानसभा चुनाव होने हैं। बीजेपी और कांग्रेस दोनों ही बीआरएस से बेहतर विकल्प देने का वादा कर रहे हैं।

Also read:  4 साल में 200 से ज्यादा होंगे हवाई अड्डे- पीएम मोदी

नोबेल शांति पुरस्कार के लिए एक अभियान शुरू!

एक अन्य ट्वीट में, केटीआर ने महात्मा गांधी के पास कोई डिग्री नहीं होने की बात कहने के लिए जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल की आलोचना की। केटीआर ने लिखा, मुझे आश्चर्य नहीं होगा अगर वे गोडसे व्हाट्सएप विश्वविद्यालय के स्नातकों के लिए नोबेल शांति पुरस्कार के लिए एक अभियान शुरू करते हैं।

Also read:  निर्मला सीतारमण ने चीन के मुद्दे पर भारत सरकार को ताना मारने वाले कांग्रेस नेता राहुल गांधी के बयान पर साधा निशाना