English മലയാളം

Blog

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने केंद्र सरकार की तरह प्रदेश के कर्मचारियों को भी त्योहारी एडवांस देने का ऐलान किया है. उन्होंने वित्त विभाग को योजना तैयार करने के निर्देश दे दिए हैं. वहीं, वित्त मंत्री सुरेश खन्ना (Finance Minister Suresh Khanna) ने दिवाली का बोनस (Diwali Bonus) भी समय पर देने का स्पष्ट संकेत किया है. वित्त मंत्री ने बताया कि केंद्र द्वारा घोषित योजना का अध्ययन किया जा रहा है. मुख्यमंत्री (Chief Minister) से विचार-विमर्श कर जल्दी ही निर्णय ले लिया जाएगा.

Also read:  ओबामा ने कहा- रामायण और महाभारत सुनकर बीता बचपन, भारत के लिए है विशेष स्थान

केंद्र सरकार की राह पर यूपी सरकार
केंद्र ने अपने कर्मचारियों को अवकाश यात्रा रियायत (एलटीसी) के बदले नकदी वाउचर और खरीदारी के लिए 10 हजार रुपये अग्रिम देने का ऐलान किया है. उन्होंने कहा कि कर्मचारियों को परंपरागत तौर पर जो भी लाभ मिलता रहा है, सरकार उसे देगी. कोरोना आपदा के बीच प्रदेश की वित्तीय स्थिति सुधर रही है. पिछले वर्ष के अगस्त के मुकाबले इस वर्ष अगस्त में 600 करोड़ और सितंबर के मुकाबले इस वर्ष सितंबर में 890 करोड़ रुपये अधिक राजस्व प्राप्त हुआ है.

Also read:  लद्दाख तनाव पर बोले IAF चीफ भदौरिया : एयर वॉरियर्स की त्वरित कार्रवाई काबिलेतारीफ

राज्य के 16 लाख कर्मचारियों को मिलेगा लाभ
अगर प्रदेश सरकार ने केंद्र की तरह त्योहारी अग्रिम व एलटीसी के बदले नकदी वाउचर के भुगतान का फैसला किया तो करीब 16 लाख कर्मचारी फायदा पाएंगे. प्रदेश में राज्य कर्मियों के 12.40 लाख पद, सार्वजनिक क्षेत्र के करीब एक लाख और सहायतित संस्थाओं के 7.12 लाख पद हैं. इनमें से करीब 16 लाख कार्यरत हैं. इन्हें यदि 10 हजार रुपये एडवांस दिया जाता है तो सरकार पर 1600 करोड़ रुपये का व्यय भार आने का अनुमान है.

Also read:  बायोपिक को लेकर उठे विवाद पर बोले मुथैया मुरलीधरन- "कभी नहीं किया मासूमों की हत्या का समर्थन"