English മലയാളം

Blog

Screenshot 2022-08-15 180456

ट्रम्प के एक वकील ने कहा कि उनके आवास से क्लासिफाइड फाइल को वापस दे दिया गया है क्लासिफाइड फाइल के बक्से को लेने के लिए खुद अमेरिकी न्याय विभाग के जे आई ब्रैट पहुंचे थे ट्रंप पर आरोप है कि जनवरी 2021 में व्हाइट हाउस छोड़ते समय वो कई दस्तावेज़ साथ ले गये थे

 

अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के एक वकील ने एक लिखित बयान पर हस्ताक्षर करके कहा है कि ट्रम्प के मार-ए-लागो निवास और क्लब के स्टोरेज एरिया में क्लासिफाइड फाइल को एक बक्से में रख गया था, जिसे चार लोगों की मौजूदगी में सरकार को वापस कर दी गई थी। जानकारी के मुताबिक ट्रंप के वकील ने इस बयान पर 3 जून को दस्तखत किया है।

वकील के लिखित बयान में कहा गया है कि क्लासिफाइड फाइल के संबंध में ट्रंप के निवास मार-ए-लागो पर खुद अमेरिकी न्याय विभाग के राष्ट्रीय सुरक्षा विभाग के प्रमुख जे आई ब्रैट पहुंचे थे।

Also read:  Lockdown in Delhi: दिल्ली में बंद हो सकते हैं ये बाजार,पढ़ें पूरी लिस्ट

हालांकि वकील के इस हस्ताक्षरित बयान की चर्चा रिपोर्ट में नहीं की गई है। जिसके कारण संभावना व्यक्त की जा रही थी कि ट्रम्प या उनकी टीम क्लासिफाइड फाइल के बारे में संघीय जांचकर्ताओं को जानकारी नहीं दे रहे थे। इसलिए संघीय जांचकर्ताओं द्वारा द्वारा बीते सोमवार को पूर्व राष्ट्रपति के घर की तलाशी के ऑर्डर जारी किये गये थे।

कहा यह जा रहा था कि अमेरिकी न्याय विभाग बीते कई महीनों से इस संबंध में ट्रंप की टीम से चर्चा कर रहा था लेकिन उनकी ओर सहयोग न मिलने के कारण लगभग महीनों बाद तलाशी का फैसला लिया गया।

Also read:  अल-मुगसैल समुद्र तट पर एक मृत पाया गया

मामले में शुक्रवार को संघीय जांचकर्ताओं द्वारा जारी किए गए ट्रम्प के घर से ली गई सामग्री की एक सूची से पता चला है कि ट्रंप के आवास से सर्च के दौरान क्लासिफाइड फाइल के 11 सेट को जब्त किया गया है, जिन पर कुछ गोपनीय या गुप्त चिह्न थे। जिनमें से कुछ में शॉर्टहैंड का प्रयोग हुआ है। इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि वो सभी फाइलें किसी गुप्त अथवा संवेदनशील जानकारी की ओर इशारा कर रही हैं।

ट्रंप आवास पर तलाशी में न केवल उस स्टोरेज एरिया को शामिल किया गया, जहां न्याय विभाग को मिली सूचना के मुताबिक क्लासिफाइड फाइल के बक्से थे बल्कि ट्रम्प के कार्यालय और निवास की भी तलाशी ली गई। शुक्रवार को बिना सील किए गए सर्च वारंट और इन्वेंट्री में यह नहीं बताया गया है कि ट्रंप के मार-ए-लागो निवास में वो क्लासिफाइड फाइल कहां पाए गए।

Also read:  कोरोना को लेकर सख्त हुए CM योगी, कोरोना को लेकर अधिकारियों को दिए निर्देश, कहा-अलर्ट मोड में रखा जाए NCR

मालूम हो कि छापेमारी के बाद ट्रंप ने शुक्रवार को ही कहा था कि उन्होंने पद पर रहते हुए अपने पास मौजूद सभी सामग्रियों को सार्वजनिक कर दिया था। उसने ऐसा कोई दस्तावेज नहीं हैं, जिन्हें उनके द्वारा छिपाया गया हो।

दूसरी ओर ट्रंप पर आरोप है कि उन्होंने पिछले साल जनवरी 2021 में अपने कार्यकाल के अंत में व्हाइट हाउस छोड़ने के साथ कई दस्तावेज़ और अन्य सरकारी सामग्रियों को साथ लेकर चले गये थे। मामले में राष्ट्रीय अभिलेखागार के अधिकारियों का कहना है कि पूर्व राष्ट्रपति ट्रंप को वो क्लासिफाइड फाइल और अन्य सामग्री स्वेच्छा से लौटा देनी चाहिए।