English മലയാളം

Blog

Screenshot 2022-08-26 141539

मैंने एक पैसे की बेइमानी नहीं की है- मनीष सिसोदियाप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सोच घटिया और छोटी है- मनीष सिसोदिया 1000 और रेड कर लोगे मेरे खिलाफ, कुछ नहीं मिलेगा- मनीष सिसोदिया

 

कथित शराब घोटाले के आरोप में सीबीआई जांच का सामना कर रहे दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया आज दिल्ली विधानसभा में प्रधानमंत्री मोदी पर जमकर बरसे। दिल्ली विधानसभा के विशेष सत्र के दौरान सिसोदिया ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सोच घटिया और छोटी है। सिसोदिया ने कहा कि दिल्ली सरकार हर क्षेत्र में अच्छा काम कर रही है इसलिए उसे रोकने के लिए सीबीआई की रेड डलवाई जा रही है और तरह-तरह के हथकंडे अपनाए जा रहे हैं।

Also read:  राज्यसभा के लिए बीजेपी के आज 8 प्रत्याशी करेंगे नामांकन, भाजपा ने राज्यसभा के 16 उम्मीदवारों के नाम का ऐलान किया

प्रधानमंत्री मोदी पर निशाना साधते हुए मनीष सिसोदिया ने कहा, “यदि आज अरविंद केजरीवाल देश के प्रधानमंत्री होते और मैं किसी दूसरी पार्टी का शिक्षा मंत्री होता तो मैं दावे के साथ कह सकता हूं कि वह ऐसी नीची हरकत नहीं करते। वह छोटी सोच नहीं रखते हैं कि कोई अच्छा काम कर रहा है तो उसके घर पर सीबीआई की रेड डलवा दें।”

 

सिसोदिया ने आगे कहा, “केजरीवाल पीएम होते तो मुझे बुलाते, प्यार से गले लगाते, पूछते कि कैसे कर रहे हो, हमें दूसरे राज्यों में भी करना है। कोई भी अच्छा काम करे प्रधानमंत्री को असुरक्षा महसूस होने लगती है। कहीं यह मेरी कुर्सी तो नहीं ले लेगा। यह जो हरकत है यह प्रधानमंत्री की घटिया सोच को दिखाती है। बताती है कि सोच कितनी छोटी है। इसी की वजह से हम आजादी के 75 साल बाद भी पिछड़े हुए हैं।”

Also read:  यूपी में महिला को भाजपा को वोट देना पड़ा महंगा, महिला को घर से निकाला, दी तीन तलाक की धमकी

मनीष सिसोदिया ने अपने ऊपर लगे भ्रष्टाचार के आरोपों को भी गलत बताया और कहा, “1000 और रेड कर लोगे मेरे खिलाफ, कुछ नहीं मिलेगा। मैंने एक पैसे की बेइमानी नहीं की है। दिल्ली के एजुकेशन को बेहतर जरूर किया है। फर्जी एफआईआर है, धूल में लठ चला रहे हैं। असली वजह यह है कि दुनियाभर में जो तारीफ हो रही है वह इनसे सहन नहीं होता है। 75 साल में यही होता आया है कि कोई काम करने लगे तो सीबीआई लेकर खड़े हो जाओ।”

Also read:  देश में तेजी से घट रहे कोरोना के केस, पिछसे 24 घंटों में कोरोना से 84 लोगों की हुई मौत

बता दें कि दिल्ली में भाजपा और आम आदमी पार्टी के बीच राजनीतिक टकराहट बढ़ गई है। एक तरफ भाजपा केजरीवाल और मनीष सिसोदिया पर आबकारी नीति में फर्जीवाड़ा और भ्रष्टाचार का आरोप लगा रही हैं। वहीं दूसरी तरफ आप ने भाजपा पर पार्टी तोड़ने की कोशिश करने का आरोप लगाया है।