English മലയാളം

Blog

Screenshot 2022-08-19 105030

दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के घर सीबीआई की टीम पहुंची है। जांच एजेंसी की कई टीमें दिल्ली-एनसीआर में 10 जगहों पर एक साथ छापेमारी कर रही है। सूत्रों के अनुसार, सीबीआई जिन ठिकानों पर छापेमारी कर रही है, उनमें दिल्ली के तत्कालीन आबकारी आयुक्त आरव गोपी कृष्ण का परिसर भी शामिल है।

 

अधिकारियों ने बताया कि सीबीआई ने पिछले साल नवंबर में लाई गई दिल्ली आबकारी नीति बनाने और उसके क्रियान्वयन में कथित अनियमितताओं के संबंध में एक एफआईआर दर्ज की है। दिल्ली के उपराज्यपाल वी. के. सक्सेना ने आबकारी नीति 2021-22 के क्रियान्वयन में कथित अनियमितताओं की केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) से जांच कराने की सिफारिश की थी।

उन्होंने बताया कि दिल्ली के मुख्य सचिव की जुलाई में दी गई रिपोर्ट के आधार पर सीबीआई जांच की सिफारिश की गई थी, जिसमें जीएनसीटीडी अधिनियम 1991, कार्यकरण नियम (टीओबीआर)-1993, दिल्ली उत्पाद शुल्क अधिनियम-2009 और दिल्ली उत्पाद शुल्क नियम-2010 का प्रथम दृष्टया उल्लंघन पाए जाने की बात कही गई थी। अधिकारियों ने बताया कि इसके अलावा, निविदा के बाद ”शराब कारोबार संबंधी लाइसेंस हासिल करने वालों को अनुचित लाभ” पहुंचाने के लिए ”जानबूझकर और सकल प्रक्रियात्मक चूक” की गई।

Also read:  नवाब मलिक का योगी पर हमला, कहा- योगी को गोरखपुर से टिकट देना दर्शाता है कि BJP कमजोर हुई

इस बीच,मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने कहा कि जिस दिन अमेरिका के सबसे बड़े अख़बार NYT के फ्रंट पेज पर दिल्ली शिक्षा मॉडल की तारीफ और मनीष सिसोदिया की तस्वीर छपी, उसी दिन मनीष के घर केंद्र ने CBI भेजी। CBI का स्वागत है। पूरा सहयोग करेंगे। पहले भी कई जांच/रेड हुईं। कुछ नहीं निकला और अब भी कुछ नहीं निकलेगा।

वहीं सिसोदिया ने सिलसिलेवार ट्वीट में कहा कि वह सीबीआई का स्वागत करते हैं। उन्होंने ट्वीट किया, ”सीबीआई आई है। उनका स्वागत है। हम कट्टर ईमानदार हैं। लाखों बच्चों का भविष्य बना रहे हैं। बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण है कि हमारे देश में जो अच्छा काम करता है उसे इसी तरह परेशान किया जाता है। इसीलिए हमारा देश अभी तक नम्बर-एक नहीं बन पाया।”

Also read:  सुरक्षा कर्मचारियों का विरोध, हवाई अड्डों पर अधिकारों की मांग

उन्होंने कहा, ” हम सीबीआई का स्वागत करते हैं। जांच में पूरा सहयोग देंगे ताकि सच जल्द सामने आ सके। अभी तक मेरे खिलाफ कई मामले किए गए लेकिन कुछ नहीं निकला। इसमें भी कुछ नहीं निकलेगा। देश में अच्छी शिक्षा के लिए मेरा काम रोका नहीं जा सकता।”

Also read:  ताजमहल की लोकप्रियता में फिर से नंबर वन, यूनेस्को साइट्स में ताजमहल पर्यटकों की पहली पसंद

सिसोदिया ने सभी आरोपों को खारिज करते हुए कहा, ” ये लोग दिल्ली में शिक्षा और स्वास्थ्य क्षेत्र में शानदार काम से परेशान हैं। इसीलिए दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री और शिक्षा मंत्री को पकड़ा है, ताकि शिक्षा एवं स्वास्थ्य के अच्छे काम रोके जा सकें।”