English മലയാളം

Blog

तापमान गिरने से उत्तर भारत का मैदानी इलाका अगले चार दिन जबर्दस्त शीत लहर की चपेट में रहेगा। भारतीय मौसम विभाग (आईएमडी) ने मंगलवार को मौसम का मिजाज बिगड़ने को लेकर ऑरेंज अलर्ट जारी किया। इस दौरान मैदानी भागों में न्यूनतम तापमान के सामान्य से 2-5 डिग्री सेल्सियस तक नीचे जाने की संभावना है। उधर, तमिलनाडु और पुडुचेरी में जबर्दस्त बारिश को लेकर भी ऐसा ही अलर्ट जारी किया गया है।

आईएमडी ने कहा कि उत्तर और उत्तर पश्चिमी शुष्क हवाओं के कारण अगले चार-पांच दिन उत्तर पश्चिमी भारत के ज्यादातर हिस्सों में न्यूनतम तापमान सामान्य से कम रहेगा। इसकी वजह से अगले तीन दिन पंजाब, हरियाणा, दिल्ली, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड में भीषण शीतलहर चलेगी।

Also read:  डीएसजीएमसी ने किसानों के खिलाफ 'आपत्तिजनक' ट्वीट पर कंगना रनौत को भेजा नोटिस

मौसम विभाग का कहना है कि अगले चार-पांच दिनों में उत्तर पश्चिमी भारत के विभिन्न हिस्सों में सघन से काफी सघन धुंध छायी रहेगी। पंजाब, हरियाणा और उत्तर प्रदेश के लिए 13 से 16 जनवरी तक के लिए जबकि राजस्थान के लिए 13 जनवरी का ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है।

Also read:  राजधानी दिल्ली में महसूस किए गए भूकंप के झटके, रिक्टर स्केल पर इतनी रही तीव्रता

आईएमडी ने मौसम की तीव्रता को बताने के लिए चार कलर कोड निर्धारित किए हैं। ऑरेंज कोड दरअसल खतरनाक मौसम के लिए तैयार रहने का संकेत है, वहीं लाल कोड अत्यधिक खराब मौसम के कारण जान माल के नुकसान से बचाने के लिए कार्रवाई करने की चेतावनी है। हरा कोड सामान्य मौसम को दर्शाता है, वहीं पीला कोड मौसम बिगड़ने पर सतर्क रहने की चेतावनी है।

Also read:  Coronavirus In India: 125 दिन बाद सामने आए सबसे कम मामले, पिछले 24 घंटे में मिले 29164 नए मरीज

राजस्थान में शीतलहर जारी है। राज्य का इकलौता हिल स्टेशन माउंट आबू सबसे ठंडा रहा, जहां मंगलवार को तापमान माइनस दो डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। जबकि सीकर 1.5 डिग्री तापमान के साथ दूसरा सबसे ठंडा रहा। वहीं दिल्ली में मंगलवार को न्यूनतम तापमान गिरकर 4.3 डिग्री पर चला गया, जो सामान्य से तीन डिग्री कम है। मौसम विभाग ने कहा है कि तापमान के अभी और नीचे जाने के आसार हैं।