English മലയാളം

Blog

Screenshot 2022-07-28 124409

वरुण गांधी अपनी सरकार पर बेरोजगारी को लेकर हमलावर रुख अख्तियार किया हुआ है वरुण गांधी ने लिखा, 22 करोड़ युवाओं ने आवेदन दिया जिसमें से मात्र 7 लाख को रोजगार मिला भाजपा सासंद ने कहा यह आँकड़े बेरोजगारी का आलम बयां कर रहे हैं।

 

वरुण गांधी केंद्र की मोदी सरकार पर लगातार हमलावर हैं। वह बेरोजगारी और जीएसटी को लेकर सरकार से लगाता सवाल कर रहे हैं। इस बीच उन्होंने बेरोजगारी के आंकड़े साझा करते हुए सरकार से पूछा है कि इसके लिए जिम्मेदार कौन है?

Also read:  मुंबई में तपती गर्मी के बाद मिली राहत, दो दिन से शहर में हो रही मूसलाधार बारिश

वरुण गांधी ने ट्वीट में लिखा- विगत 8 वर्षों में 22 करोड़ युवाओं ने केंद्रीय विभागों में नौकरी के लिए आवेदन दिया जिसमें से मात्र 7 लाख को रोजगार मिल सका है। भाजपा सासंद ने लिखा- ससंद में सरकार द्वारा दिए गए यह आँकड़े बेरोजगारी का आलम बयां कर रहे हैं। उन्होंने कहा, जब देश में लगभग एक करोड़ स्वीकृत पद खाली हैं, तब इस स्थिति का जिम्मेदार कौन है?

वरुण गांधी ने इससे पहले, नमामि गंगे और जीएसटी को लेकर मोदी सरकार को घेरा था। पीलीभीत से भाजपा सांसद ने इससे पहले किए ट्वीट में मृत मछलियों से भरे गंगा नदी का वीडियो साझा किया था और पूछा था कि गंगा तो जीवनदायिनी है, फिर गंदे पानी के कारण मछलियों की मौत क्यों? जवाबदेही किसकी?

Also read:  पश्चिम बंगाल: BJP के खिलाफ सियासी रण में उतरेंगे राकेश टिकैत, नहीं बनेंगे अन्य दलों के लिए 'राजनीतिक कंधा'

वरुण गांधी ने लिखा ता- गंगा हमारे लिए सिर्फ नदी नहीं, ‘मां’ है। करोड़ों देशवासियों के जीवन, धर्म और अस्तित्व का आधार है मां गंगा। इसलिए नमामि गंगे पर 20,000 करोड़ का बजट बना। 11,000 करोड़ खर्च के बावजूद प्रदूषण क्यों?

Also read:  Bihar Election Results 2020: नतीजे कल, मुकम्मल इंतजाम, सीसीटीवी कैमरे से निगरानी