English മലയാളം

Blog

Screenshot 2022-08-31 104519

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अगले महीने सितंबर के दूसरे हफ्ते में केंद्र सरकार की महत्वाकांक्षी सेंट्रल विस्टा पुनर्विकास परियोजना के एक हिस्सा, संशोधितसेंट्रल विस्टा एवेन्यूका उद्घाटन कर सकते हैं, इस मामले से अवगत लोगों ने कल मंगलवार को बताया कि इस कार्यक्रम का आयोजन 8 और 10 सितंबर के बीच कराए जाने की संभावना है।

 

सेंट्रल विस्टा का काम तेजी से चल रहा है और इसे इस साल के अंत तक पूरा करा लिए जाने की संभावना है। इस मामले से अवगत लोगों में से एक ने नाम नहीं बताने की शर्त पर कहा कि पहले से तय कार्यक्रम के अनुसार, इसे 2021 के अंत तक पूरा हो जाना था, हालांकि अब सेंट्रल विस्टा एवेन्यू का काम पूरा हुआ है। केंद्रीय आवास और शहरी मामलों के मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने कल मंगलवार सुबह इस निर्माणस्थल का दौरा किया और काम के प्रगति की समीक्षा की।

4 प्रोजेक्टस में से पहला हिस्सा हो गया पूरा

केंद्रीय लोक निर्माण विभाग (CPWD) ने पिछले साल फरवरी में एवेन्यू पर काम शुरू किया था। पहले अधिकारी ने नाम न बताने के लिए कहा, “काम खत्म हो गया है। सेंट्रल विस्टा पुनर्विकास परियोजना के हिस्से के रूप में पूरी होने वाली चार परियोजनाओं (जो अभी निर्माणाधीन हैं) में से यह पहली होगी। प्रधानमंत्री मोदी के पुनर्विकसित एवेन्यू का उद्घाटन करने की संभावना है। वर्तमान में आयोजन की योजना तय की जा रही है।”

Also read:  केंद्रीय ट्रेड यूनियनों की दो दिवसीय राष्ट्रव्यापी हड़ताल, बंगाल में रेल की पटरियां जाम, केरल में सड़कें खाली और सरकारी कार्यालय बंद

वेबसाइट हिंदुस्तान टाइम्स के मुताबिक, प्रधानमंत्री कार्यालय (PMO) के एक व्यक्ति ने कहा कि उनके पास इस संबंध में जानकारी साझा करने के लिए कोई जानकारी नहीं है।

यह एवेन्यू राजपथ का 1.8 किमी लंबा हिस्सा है और इंडिया गेट तथा विजय चौक के बीच इसके किनारे लगे लॉन भी हैं। यहां पर चार पैदल यात्री अंडरपास (pedestrian underpasses), आठ एमेनिटी ब्लॉक, राजपथ की रिलेइंग, लॉन में रास्तों का निर्माण, नहरों में सुधार और उस पर 16 स्थायी पुलों का निर्माण होना है। साथ ही बिजली और अन्य केबलों के लिए भूमिगत उपयोगिता नालियों (underground utility ducts) का निर्माण शामिल है।

Also read:  अरविंद केजरीवाल का बड़ा ऐलान, बोले- अब दूसरे राज्यों की तर्ज पर दिल्ली का भी अपना शिक्षा बोर्ड होगा

सीपीडब्ल्यूडी के अधिकारियों ने भी नाम न छापने की शर्त पर कहा कि इस साल गणतंत्र दिवस समारोह के दौरान नई स्थापित प्रणालियों को हुए नुकसान सहित कई कारकों की वजह से काम में देरी हुई, जिसके लिए विशेष व्यवस्था की जानी थी।सीपीडब्ल्यूडी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने नाम न बताने के शर्त पर कहा, “हमें निर्माण कार्य रोकना पड़ा, सभी मशीनरी को साइट से बाहर निकालना पड़ा, और गणतंत्र दिवस परेड के लिए अस्थायी व्यवस्था करनी पड़ी। परेड की तैयारियों के दौरान भारी वाहनों की आवाजाही के कारण पानी के छिड़काव प्रणाली को हुए नुकसान की मरम्मत के लिए कुछ स्थानों पर रास्ते को खोदना पड़ा था. अंडरपास और अन्य जगहों पर निर्माण कार्य भी तब तक पूरा नहीं हुआ था।”

इंडिया गेट पर 3 बड़े काम हुए पूरे

अधिकारी ने कहा कि प्रमुख निर्माण कार्य जनवरी में परेड से पहले पूरा हो गया था, लेकिन अंडरपास, एमेनिटी ब्लॉक और इंडिया गेट पर सी-हेक्सागन में दो प्लाजा का काम हाल ही में पूरा किया गया है।

Also read:  कर्नाटक विधानसभा में रात भर चला हंगामा, मंत्री ईश्वरप्पा के इस्तीफे की मांग

सीपीडब्ल्यूडी के एक दूसरे अधिकारी के अनुसार, एवेन्यू लॉन को फिर से तैयार किया गया है और राजपथ तथा पूरे लॉन के रास्ते को लाख लाल रंग में ग्रेनाइट के साथ पक्का कर दिया गया है। राजपथ के साथ लगे हेरिटेज लाइट पोल का नवीनीकरण किया गया है, लॉन और नहरों के पास नए लाइट पोल लगाए गए हैं और बेहतर सिग्नल के लिए नए सिगनल्स भी लगाए गए हैं।

साथ ही उन्होंने कहा कि दोनों ओर के लॉन के बीच क्रॉस कनेक्टिविटी के लिए नहरों पर कुल 16 स्थायी पुलों का निर्माण किया गया है और क्षेत्र में करीब 300 सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं।