English മലയാളം

Blog

Screenshot 2022-01-15 132620

लंबे समय से कांग्रेस से जुड़े रहने के बाद जोगिंदर सिंह मान ने पंजाब चुनाव से ठीक पहले हाथ का साथ छोड़कर आप का दामन थाम लिया है। वे कांग्रेस के पूर्व मंत्री हैं और तीन बार एमएलए रह चुके हैं।

 

पंजाब राज्य में चुनाव की तारीखें घोषित हो चुकी हैं। इसी के साथ दल बदल का दौर जारी है. फिलहाल कांग्रेस पार्टी को बड़ा झटका देते हुए पंजाब कांग्रेस के पूर्व मंत्री और तीन बार एमएलए रह चुके जोगिंदर सिंह मान ने हाथ का साथ छोड़ दिया है। जोगिंदर सिंह राज्य में बड़ी पार्टी के रूप में उभरी केजरीवाल की आम आदमी पार्टी में शामिल हो गए हैं। वह बीते दिन मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की उपस्थिति में आप में शामिल हुए।

Also read:  India Coronavirus Update: भारत में कोरोनावायरस केस अपडेट : भारत में पिछले 24 घंटे में दर्ज हुए 11,610 नए COVID-19 केस, 100 की मौत

पूर्व केंद्रीय मंत्री बूटा सिंह के रिश्तेदार हैं जोगिंदर सिंह मान

बता दें कि आम आदमी पार्टी में शामिल होने के बाद जोगिंदर सिंह मान के दोआब क्षेत्र के किसी हलके से चुनाव लड़ने की संभावना है। वह पहले फगवाड़ा से चुनाव लड़ते रहे हैं। मान बेअंत सिंह की सरकार में भी मंत्री पद पर रह चुके हैं। वह पूर्व केंद्रीय मंत्री बूटा सिंह के भांजे हैं। खबरें हैं कि मान फगवाड़ा को जिला न बनाने और पोस्ट मैट्रिक स्कॉलरशिप घोलाटे के दोषियों को सजा न दिए जान से कांग्रेस से नाराज चल रहे थे।

 

Also read:  मध्य प्रदेश उपचुनाव: कांग्रेस और ज्योतिरादित्य सिंधिया दोनों के लिए एक अग्निपरीक्षा

मौकपरस्तों के कारण छोड़ी कांग्रेस- मान

वहीं कांग्रेस छोड़ आप का दामन थाने वाले जोगिंदर सिंह मान ने कहा कि वह चाहते थे कि उनकी मृत्यु के बाद उनका शव कांग्रेस के झंडे में लिपटे लेकिन महाराजा, अमीरों और मौकापरस्तों के कारण उनका जमीर पार्टी में रहने की गवाही नहीं देता है।

Also read:  इंतजार खत्म : भारत में एस्ट्राजेनेका वैक्सीन को अगले हफ्ते तक इस्तेमाल की मंजूरी संभव

पंजाब में 14 फरवरी को होगा चुनाव

बता दें कि पंजाब की 117 विधानसभा सीटों के लिए एक चरण में चुनाव 14 फरवरी 2022 को होगा। फिलहाल सभी पार्टियां उम्मीदवारों के नामों की घोषणा कर रही हैं पंजाब में विधानसभा का कार्यकाल इस साल फरवरी 2022 को समाप्त हो रहा है। वहीं पंजाब में किसी दल या पार्टी या गठबंधन को सरकार बनाने के लिए 59 सीटों का आंकड़ा हासिल करना होगा।