English മലയാളം

Blog

Screenshot 2022-01-25 094240

मांडविया के साथ इस मीटिंग में जम्मू-कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, पंजाब, हरियाणा, उत्तराखंड, दिल्ली, लद्दाख, उत्तर प्रदेश और चंडीगढ़ के स्वास्थ्य मंत्री शामिल होने वाले हैं।

 

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया आज 9 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के स्वास्थ्य मंत्रियों के साथ COVID-19 की स्थिति पर बातचीत करेंगे। जानकारी के मुताबिक, सुबह 10:30 बजे यह बैठक होगी। इस मीटिंग में शामिल होने वाले राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में जम्मू-कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, पंजाब, हरियाणा, उत्तराखंड, दिल्ली, लद्दाख, उत्तर प्रदेश और चंडीगढ़ शामिल हैं।

इससे पहले केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश, राजस्थान, गुजरात, गोवा और दादरा और नगर हवेली और दमन दीव के स्वास्थ्य मंत्रियों और प्रधान सचिवों के साथ बातचीत की थी। आज होने वाली बैठक ऐसे समय में हो रही है जब कई राज्यों में कोरोना कहर बरपा रहा है। हालांकि, कुछ राज्य ऐसे भी हैं जहां कोविड-19 के मामले कम होने शुरू हो गए हैं।

Also read:  BJP ने सपा का बिगड़ा गेम

लग चुकी टीके की 162.77 करोड़ से ज्यादा खुराक

देश में अब तक कोविड-19 रोधी टीके की 162.77 करोड़ से ज्यादा खुराक दी जा चुकी है. स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकडे के अनुसार, सोमवार शाम सात बजे तक टीके की 49 लाख (49,52,290) खुराकें दी गईं जिससे अभी तक दी गई टीके की खुराक की संख्या बढ़कर 1,62,77,06,092 हो गई है।

Also read:  जावेद अख्तर मानहानि मामले में उलझीं कंगना रणौत, कोर्ट ने भेजा नोटिस

मंत्रालय ने कहा कि अब तक 87 लाख (87,33,359) से अधिक एहतियाती खुराक स्वास्थ्य कर्मियों, अग्रिम मोर्चे के कर्मियों और अन्य बीमारियों से पीड़ित 60 वर्ष से अधिक आयु के लोगों को दी गई है। साथ ही 15-18 आयु वर्ग के 4,25,44,326 किशोरों को पहली खुराक दी गई है।

राष्ट्रीय दर घटकर 93.07 प्रतिशत हो गई

पिछले साल 16 जनवरी को देश में स्वास्थ्यकर्मियों को टीके दिए जाने के साथ टीकाकरण की शुरुआत हुई थी। इसके बाद दो फरवरी 2021 से अग्रिम मोर्चे के कर्मियों का टीकाकरण शुरू किया गया। बाद के चरणों में अन्य समूहों को टीका देने की शुरुआत की गई। इस साल तीन जनवरी को 15-18 वर्ष के किशोरों को टीका देने का अभियान शुरू हुआ।

Also read:  केंद्रीय मंत्री करहल से भाजपा प्रत्याशी एसपी सिंह बघेल के काफिले पर हमला

देश में मरीजों के ठीक होने की राष्ट्रीय दर घटकर 93.07 प्रतिशत हो गई है। देश में अभी 22,49,335 लोगों का कोरोना वायरस संक्रमण का इलाज चल रहा है, जो कुल मामलों का 5.69 प्रतिशत है।