English മലയാളം

Blog

Screenshot 2022-03-26 103327

अनिल धीरूभाई अंबानी ग्रुप (Reliance Group) के चेयरमैन अनिल अंबानी (Anil Ambani) ने शुक्रवार को रिलायंस पावर और रिलायंस इंफ्रास्ट्रक्चर के निदेशक पद से इस्तीफा दे दिया है। बाजार नियामक सेबी के आदेश के बाद उन्हें किसी भी सूचीबद्ध कंपनी के साथ जुड़ने से रोक दिया गया था, जिसके बाद उन्होंने यह कदम उठाया है।

 

रिलायंस पावर ने BSE फाइलिंग में कहा, ‘अनिल अंबानी, गैर-कार्यकारी निदेशक, सेबी (भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड) के अंतरिम आदेश के अनुपालन में रिलायंस पावर के बोर्ड से हट गए हैं।’ वहीं रिलायंस इंफ्रास्ट्रक्चर ने कहा कि अनिल अंबानी ने सेबी के अंतरिम आदेश के अनुपालन में अपने बोर्ड से इस्तीफा दे दिया है।

Also read:  30 चालक दल के सदस्यों के साथ संयुक्त अरब अमीरात के झंडे वाला जहाज ईरान तट पर डूब गया

राहुल सरीन अतिरिक्त निदेशक नियुक्त

वहीं एडीएजी समूह की दोनों कंपनियों ने कहा कि आर-पावर और आर-इन्फ्रा के निदेशक मंडल ने शुक्रवार को राहुल सरीन को पांच साल के कार्यकाल के लिए स्वतंत्र निदेशक के रूप में अतिरिक्त निदेशक नियुक्त किया है। हालांकि यह नियुक्ति अभी आम बैठक में सदस्यों की मंजूरी के अधीन है। 72 वर्षीय राहुल सरीन सिविल सर्वेंट रहे हैं। इन्हाेंने 35 से अधिक वर्षों तक लोक सेवा की है। वह केंद्र सरकार में सचिव के पद से सेवानिवृत्त हुए थे।

Also read:  चीन से तनाव के बीच भारत के साथ मालाबार नौसेना युद्धाभ्‍यास में अब ऑस्‍ट्रेलिया भी शामिल..

एक साल में 469% बढ़ गई शेयर की कीमत

कंपनी के बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स ने बताया कि पिछले एक साल में कंपनी ने अपने करीब 8 लाख शेयरधारकों के लिए बहुत ज्यादा मुनाफा दिया है। कंपनी के शेयर की कीमत 32 रुपये के निचले स्तर से बढ़कर 150 रुपये (469%) हो गई है।

Also read:  दुबई को 2022 में पारिवारिक छुट्टियों के लिए दुनिया का सबसे अच्छा शहर माना गया

सेबी ने अनिल अंबानी पर लगा दिया था बैन

भारतीय प्रतिभूति एवं विनियम बोर्ड (सेबी) ने फरवरी में रिलायंस होम फाइनेंस लिमिटेड, उद्योगपति अनिल अंबानी और तीन अन्य व्यक्तियों को कथित रूप से धन निकालने के आरोप में प्रतिभूति बाजार से प्रतिबंधित कर दिया था।अनिल अंबानी के शेयर बाजारों में किसी सूचीबद्ध कंपनी से जुड़ने पर रोक लगा दी थी। इसकी बाद से ही माना जा रहा था कि अनिल अंबानी को इस्तीफा देना पड़ेगा।