English മലയാളം

Blog

नई दिल्ली: 

कोरोनावायरस (Coronavirus) महामारी के बीच माल एवं सेवा कर (GST) संग्रह के मोर्चे पर सरकार को थोड़ी राहत मिली है. जीएसटी संग्रह (GST revenue) अक्टूबर महीने में बढ़कर 1,05,155 करोड़ रुपये पर पहुंच गया. फरवरी के बाद पहली बार जीएसटी संग्रह का आंकड़ा एक लाख करोड़ रुपये के पार निकला है. वित्त मंत्रालय ने रविवार को यह जानकारी दी. बयान में कहा गया है कि अक्टूबर 2020 का जीएसटी संग्रह पिछले साल के इसी महीने के कुल जीएसटी संग्रह से 10 प्रतिशत अधिक है.

वित्त मंत्रालय ने बयान में कहा कि “अक्टूबर 2020 में सकल जीएसटी राजस्व 1,05,155 करोड़ रुपये रहा. इसमें केंद्रीय जीएसटी (CGST) 19,193 करोड़ रुपये, राज्य जीएसटी 25,411 करोड़ रुपये, एकीकृत जीएसटी 52,540 करोड़ रुपये (माल के आयात से प्राप्त 23,375 करोड़ रुपये के साथ) और उपकर 8,011 करोड़ रुपये (माल के आयात पर एकत्र 932 करोड़ रुपये सहित) रहा.”

Also read:  वित्त मंत्री ने पेश किया आर्थिक सर्वेक्षण, अगले वित्त वर्ष में GDP में 11 फीसदी वृद्धि का अनुमान

अक्टूबर, 2020 में जीएसटी संग्रह पिछले साल के समान महीने से 10 प्रतिशत अधिक रहा है. अक्टूबर, 2019 में जीएसटी संग्रह 95,379 करोड़ रुपये रहा था. वित्त मंत्रालय ने बताया कि 31 अक्टूबर, 2020 तक दाखिल किए गए कुल जीएसटीआर-3बी रिटर्न की संख्या 80 लाख पर पहुंच गई है.

Also read:  नेस्ले इंडिया लिमिटेड देश में अपनी विनिर्माण क्षमता बढ़ाने के लिए अगले तीन से चार वर्षों में 2,600 करोड़ रुपये का निवेश करेगा।

कोविड-19 महामारी के प्रसार को रोकने के लिए लगाए गए लॉकडाउन की वजह से जीएसटी संग्रह का आंकड़ा लगातार कई माह तक एक लाख करोड़ रुपये के स्तर से नीचे रहा था.

Also read:  कहां हैं अलीबाबा के मालिक जैक मा? चीन के सरकारी अखबार ने दिया संकेत