English മലയാളം

Blog

नई दिल्ली: 

घरेलू शेयर बाजार के लिए गुरुवार का दिन काफी भारी रहा है. बाजार पिछले 10 दिनों से अच्छा मुनाफा देख रहा था लेकिन गुरुवार को स्टॉक मार्केट को नुकसान उठाना पड़ा है. सेंसेक्स में बाजार सत्र खत्म होते-होते 1,097.98 अंकों की गिरावट देखने को मिली. सेंसेक्स 2.69 फीसदी नीचे लुढ़ककर 39,696.76 पर आ गया. यह सत्र की अबतक की सबसे बड़ी गिरावट रही. निफ्टी में भी अच्छी-खासी गिरावट देखने को मिली. निफ्टी भी अपने पिछले सेशन के लेवल से 304.75 अंक यानी 2.55 फीसदी नीचे गिरकर 11,666.30 पर आ गया.

Also read:  लॉन्च हुई सबसे सस्ती Mahindra Scorpio, ह्यूंदै क्रेटा, किआ सेल्टोस, एमजी हेक्टर और टाटा हैरियर से भी कम है कीमत

दरअसल, गुरुवार को फाइनेंशियल और आईटी सेक्टर की कई कंपनियों में भारी बिकवाली देखने को मिली है, जिसके चलते बाजार में हलचल मच गई. इसके अलावा ग्लोबल शेयर बाजारों में भी US में स्टिमुलस पैकेज में होती देरी को लेकर बनी निराशा और कोविड-19 के बढ़ते मामलों को देखते हुए गिरावट देखने को मिली है, जिसका असर घरेलू बाजार में भी देखने को मिल रहा है.

Also read:  चालू वित्त वर्ष में भारत की GDP में 9.6 प्रतिशत गिरावट का अनुमान : वर्ल्ड बैंक

दिग्गज आईटी कंपनी Infosys ने इस बार उम्मीद से ज्यादा अच्छा तिमाही मुनाफा दर्ज किया है. इसके बाद कई लार्ज-कैप वाली कंपनियां अपना रिजल्ट जारी करने वाली हैं, ऐसे में बाजार में बिकवाली हावी हो गई है.

निफ्टी में गिरावट से HCL Tech, Tech Mahindra, Bharti Airtel, Bajaj Finance और Infosys को नुकसान हुआ है. इन कंपनियों के शेयर 2.60 फीसदी से 3.76 फीसदी के बीच ट्रेड कर रहे थे. हालांकि, Tata Steel, Hero MotoCorp, Hindalco और JSW Steel के शेयरों में 1.15 से लेकर 2.52 फीसदी की तेजी देखी गई.

Also read:  Petrol Diesel Price: पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़ने का सिलसिला आज थमा, जानिए कितनी है कीमत

वहीं, सेंसेक्स पर Reliance Industries, Infosys, HDFC Bank और TCS ने सबसे ज्यादा नुकसान उठाया. इंडेक्स पर इन चारों कंपनियों को कुल मिलाकर 400 अंकों का नुकसान हुआ है