English മലയാളം

Blog

कोरोना काल में देर रात पार्टी कर विवादों में फंसे सुरेश रैना ने सफाई दी है। मुंबई पुलिस ने पूर्व भारतीय क्रिकेटर पर कोरोना गाइडलाइंस के उल्लंघन के आरोप में एफआईआर दर्ज की है। ड्रैगलफ्लाई पब में गिरफ्तारी के तुरंत बाद बेल पर रिहा हुए रैना ने पूरे मामले पर खेद व्यक्त किया है। रैना की माने तो उन्हें स्थानीय नियमों की जानकारी नहीं थी।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, ‘सुरेश मुंबई में शूटिंग के सिलसिले में पहुंचे थे। देर रात काम खत्म होने के बाद एक दोस्त के निमंत्रण पर वह पहुंचे थे, जिसके बाद उन्हें दिल्ली की फ्लाइट पकड़नी थी। गलती का अंदाजा होने के बाद भारतीय क्रिकेटर ने प्रशासन और पुलिस को कार्रवाई में पूरा सहयोग किया।

Also read:  ऋषभ पंत ने धोनी को छोड़ा पीछे, बतौर कीपर 26 टेस्ट में लिए 100 विकेट

सुरेश रैना की ओर से जारी बयान में आगे कहा गया कि, ‘पूर्व भारतीय क्रिकेटर हमेशा नियमों का ध्यान रखते हैं और उनका पालन करते हैं। मुंबई में इंटरनेशनल एयरपोर्ट के ठीक बगल में स्थित ड्रैगन फ्लाई पब में सुरेश रैना कोरोना नियमों की धज्जियां उड़ाते पकड़े गए थे। छापेमारी में रैना समेत 34 लोगों को भी आरोपी बनाया गया है।

पांच सितारा होटल में स्थित इस क्लब में कोरोना के नियमों का पालन नहीं हो रहा था। धारा 188 के तहत सभी पर मामला दर्ज किया गया है। किसी ने मास्क नहीं लगाया था और न ही सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया जा रहा था। पुलिस सूत्रों की माने तो पार्टी में ऋतिक रोशन की पुर्व पत्नी सुजैन खान, सिंगर गुरु रंधावा सरीखी बॉलीवुड की कई बड़ी हस्तियां भी शामिल थीं।

Also read:  Wi vs Sl 1st T20I: पोलार्ड ने एक ओवर में जड़े 6 छक्के, युवराज के क्लब में हुए शामिल

क्लब संचालक पर भी कार्रवाई की गई है। सुरेश रैना साल 2020 में अलग-अलग कारणों से चर्चाओं में रहे। आईपीएल से ठीक पहले 15 अगस्त को उन्होंने महेंद्र सिंह धोनी के साथ अचानक संन्यास का एलान किया। टीम के साथ यूएई भी गए, लेकिन निजि कारणों का हवाला देते हुए बिना कोई मैच खेले टूर्नामेंट से अपना नाम वापस ले लिया।

Also read:  लगातार हारों के तोडा जो रूट का हौसला, जो रूट ने कप्तानी से दिया इस्तीफा

17 जुलाई 2018 को आखिरी बार टीम इंडिया की जर्सी पहनने वाले रैना अब जम्मू कश्मीर में क्रिकेट अकादमी खोल रहे हैं। 18 टेस्ट, 226 वन-डे और 78 टी-20 इंटरनेशनल में भारत का प्रतिनिधित्व करने वाला यह क्रिकेटर समाज सेवा में भी सक्रिय है। अपने जन्मदिन पर उन्होंने कई सरकारी स्कूलों में मूलभूत व्यवस्थाओं का बीड़ा उठाया है।